रिसोर्ससैट डाटा का उपयोग करते हुए ग्रामीण स्तर पर वनस्पति मानीटरन

ग्राम स्तर पर वनस्पति की स्थिति महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है, ताकि नीति निर्माताओं को निर्णय समर्थन की सुविधा में सहायता मिल सके। अंतरिक्ष उपयोग केंद्र, सैक / इसरो अहमदाबाद ने भू स्तर एनडीवीआई की गणना के लिए स्वचालित प्रणाली विकसित की है, जो भू अवलोकन डाटा और अभिलेख प्रणाली (वेदास) का मानसदर्शन के माध्यम से है। एक क्षेत्र की वनस्पति स्थिति को एनडीवीआई - सामान्यीकृत विविध वनस्पति सूची द्वारा मापा जाता है, संख्यात्मक सूचक जो कि परावर्तकता को लाल और निकट अवरक्त (एनआईआर) चैनलों में विद्युतचुंबकीय स्पेक्ट्रम के उपयोग से किया जाता है। यह जानकारी, योजनाकारों और निर्णय निर्माताओं को गांव स्तर पर वनस्पति विकास के प्रदर्शन का मूल्यांकन करने में मदद करता है, जिससे किसानों द्वारा फसल बीमा के दावों का मूल्यांकन किया जाता है।

हरियाणा को कवर करते हुए, 1 जनवरी, 2016 से आजतक एचएआरएसएसी, हिसार द्वारा अध्ययन के लिए रिसोर्ससैट एडब्ल्यूआईएफएस डाटा का उपयोग किया गया था। चार स्पेक्ट्रमी बैंड में 56 मीटर के स्थानिक विभेदन और 5 दिनों के कालिक विभेदन से डाटा प्राप्त किए गए थे जो स्वचालित रूप से एनडीवीआई के लिए संसाधन किए गए थे। उपयोगकर्ता की आवश्यकता के आधार पर, 1 से 15-दिवसीय गतिकी गतिमान अधिकतम एनडीवीआई सम्मिश्र, स्पष्ट वायुमंडलीय स्थिति और / या नादिर दृष्टि ज्यामिति पर वनस्पति स्थिति के अनुरूप, जनित की जा सकती है। हरियाणा के ग्राम, तालुका और जिला स्तर की सीमा को अधिचित्रित किया गया। ग्राम स्तर औसत एनडीवीआई की कालिक प्रोफाइल का रेखाचित्रीय दृश्य वेदास के वनस्पति मानीटरन मॉड्यूल पर देखा जा सकता है। तुलना के लिए दो तिथियों / मौसमों की द्रुतगति अंतर पर भी देखा जा सकता है। भू-स्थानिक पूछताछ (परास विश्लेषण) को वांछित तारीखवार और एनडीआईवी मूल्यों को देने के लिए भी किया जा सकता है।

गांव स्तर पर कालिक एनडीवीआई का मानसदर्शन पिछले साल की स्थिति के मुकाबले वर्तमान मौसम वनस्पति स्थिति को निर्धारित करने में सहायक है। इस तरह की व्याख्या, फसल बीमा हेतु किसानों के दावों में मदद के लिए मृदा नमी और मौसम की स्थिति के साथ-साथ पर्यावरण संबंधी आधार पर आधारित निर्णय के समर्थन प्रणाली को मजबूत करने के लिए सहायक उपकरण हो सकता है। सीएसवी, एक्सएलएस, पीडीएफ, जेपीईजी जैसे प्रारूपों में सारणीकृत डेटा उपयोगकर्ताओं द्वारा आगे निरीक्षण और विश्लेषण के लिए भी डाउनलोड किया जा सकता है।

इसरो ने यह प्रणाली सफलतापूर्वक विकसित की है, जो एवीआईएफएएस संवेदक डेटा रिसोर्ससैट ऑन-बोर्ड का उपयोग करते हुए एनडीवीआई (वनस्पति स्थिति सूचक) के गांव स्तर के आंकड़े प्रदान करता है। पिछले वर्षों की तुलना में वर्तमान मौसमी वनस्पति स्थिति का निर्धारण करने में यह उपयोगी है।

अधिक जानें...

 

एनडीवीआई प्रतिबिंब अगस्त 29, 2017

एनडीवीआई प्रतिबिंब अगस्त 29, 2017

 

गतिमान एमडीवीआई समिश्र जनन: अगस्त 29, 2017 ± 5 दिन

गतिमान एमडीवीआई समिश्र जनन: अगस्त 29, 2017 ± 5 दिन

 

गतिमान एमडीवीआई समिश्र जनन: अगस्त 29, 2017 ± 10 दिन

गतिमान एमडीवीआई समिश्र जनन: अगस्त 29, 2017 ± 10 दिन

 

एडब्ल्यूआईएफएस डाटा का उपयोग करते हुए ग्राम स्तर एनडीवीआई प्रोफाइल की तुलना

एडब्ल्यूआईएफएस डाटा का उपयोग करते हुए ग्राम स्तर एनडीवीआई प्रोफाइल की तुलना

 

एनडीवीआई प्रतिबिंब नवंबर 2017 (बाएं); नवंबर 2016 (मध्य); विविध प्रतिबिंब (दाएं)

एनडीवीआई प्रतिबिंब नवंबर 2017 (बाएं); नवंबर 2016 (मध्य); विविध प्रतिबिंब (दाएं)