5.आंकडा़ संसाधन, आंकडा़ अधिकार एवं प्रकाशन

पर्यवेक्षण के पूरा किए जाने के पश्‍चात्, प्राप्‍त कोडा़ आंकडे़ भारतीय अंतरिक्ष विज्ञान आंकडा़ केंद्र (आई एस एस डी सी) में स्‍तर-1 आंकडा़ में रूपांतरित किया जाएगा। आई एस एस डी सी, अंतर्ग्रहण के नियंत्रण, क्‍वीक लुक डिस्‍प्ले (क्‍यू एल डी), संसाधन (स्‍तर-0/1 के लिए) अभिलेखागार (सहायक आंकडा़ सहित सभी स्‍तरों के लिए तथा नीतभार आंकडा़ प्रसार के लिए जिम्‍मेदार है। आंकडा़ मानक एफ आई टी एस प्रारूप में होगा।

प्रस्‍तावों के प्रधान अन्‍वेषकों या नीतभार टीम द्वारा वैज्ञानिक विश्‍लेषण के साथ-साथ उच्‍च स्‍तरीय आंकडा़ उत्‍पादन हेतु आई एस एस डी सी की वेबसाइट से स्‍तर-1 आंकडा़ डाऊनलोड कर सकते हैं। एस्‍ट्रोसैट समर्थन सेल (ए एस सी) वेबसाइट (http:// astrosat-ssc.iucaa.in) में एक कुकबुक निकालने की योजना है जिसमें आंकडा़ डाउनलोड तथा विश्‍लेषण से संबंधित विवरण प्रदान किए जाएंगे।

पर्यवेक्षण के सफलतापूवर्क पूरा किए जाने के पश्‍चात संसाधित स्‍तर-1 आंकड़े को डाउनलोड करने की सूचना पी आई को दी जाएगी।

अतिथि पर्यवेक्षक (जी ओ) प्रस्‍तावकों को स्‍तर 1 से स्‍तर 2 के मानक पाइपलाइन सॉफ्‍टवेयर तथा अन्‍य कोई उच्‍चतर स्‍तर के मानक उत्‍पाद आई एस एस डी सी की वेबसाइट के द्वारा उपलब्‍ध कराए जाएंगे।

5.1   स्वामित्व अवधि

प्रक्षेपण के पश्चात सभी वर्षों एवं चरणों में तथा सभी एस्ट्रोसैट उपकरणों के पर्यवेक्षित आंकडा़ के साथ एक स्वामित्व अवधी होगी। यह “स्वामित्व अवधि” नीतभार टीम और/या एओ प्रस्ताव के प्रधान अन्वेषक को चरण-1 आंकडा़ उपलब्ध कराने की तिथि से शुरु होगी।

इस स्वामित्व अवधि के दौरान आंकडा़, पर्यवेक्षण हेतु प्रस्ताव प्रस्तुत करने वाली टीम के अलावा किसी भी अन्य व्यक्ति या टीम द्वारा उपयोग में नहीं लाया जाएगा जब तक की प्रस्तावक या प्रधान अन्वेषक स्वयं ही ऐसे व्यक्तियों को शामिल न करें।

एओ चक्र आंकडा़ के लिए स्वामित्व अवधि 12 माह है। स्वामित्व अवधि के पश्चात, सभी आंकडा़ आईएसएसडीसी के जन अभिलेखागार में रखे जाएँगे जो रष्ट्रीय एवं अंतरराष्‍ट्रीय रूप से अभिगम्य होंगे। यह नीतभार प्रचालन केंद्रों (पीओसी) की जिम्मेदारी है कि वे आईएसएसडीसी को चरण-2 उत्पादों की गुणवत्ता रिपोर्ट उपलब्ध कराएँ।

अवसर का लक्ष्य (टीओओ) पर्यवेक्षण जिन्हें टीओओ पर्यवेक्षण समय से लिया जाता है, उन्‍हें तुरंत ही चरण-1 आंकडा़ में संसाधित कर आईएसएसडीसी अभिलेखागार में रख दिया जाएगा। ये आंकडे़ किसी की स्वामित्व के अधीन नहीं है और पर्यवेक्षण के तुरंत बाद ही सामान्य जन को उपलब्ध होंगे। 

5.2  आंकडा़ संबंधी अधिकार एवं दायित्‍व

सभी प्रस्तावों के प्राधान अन्वेषकों (पीआई) का तब तक अपने प्रस्तावों में दिए गए क्षेत्रों के लिए एस्ट्रोसैट सहित सभी सह-संरेखित उपकरणों (नामत: एलएएक्सपीसी, सीज़ेडटीआइ, एसएक्सटी तथा युग्म दूरबीन यूवीआइटी) द्वारा प्रेक्षित आंकडा़ पर अनन्य अधिकार होगा, जब तक वे परारोही व्यवस्था की अनुमति देकर इस अधिकार का त्याग नहीं करते।

पर्यवेक्षण के प्रेक्षित क्षेत्र के अधीन पहचाने गए अन्य सामग्रियों के लिए आंकडा़ अधिकार भी प्रस्ताव के प्रधान अन्वेषक में तब तक निहित है जब तक वे इसे त्यागने की सूचना नहीं देते। वर्तमान में लक्ष्य आंकडा़ और फील्ड आंकडा़ को पृथक करने का कोई उपाय नहीं है। प्रस्ताव के प्रधान अन्वेषक मूल लक्ष्य के अलावा, फील्ड सामग्रियों के आंकडा़ विश्लेषण हेतु नीतभार टीमों (और इसके विपरीत भी) के साथ सहयोग कर सकते हैं। 

यदि प्रस्ताव के प्रधान अन्वेषक इन नीतभारों को संरूपित कर आंकडा़ का प्रयोग नहीं करना चाहते हैं, तो वे अन्य उपकरणों से आंकडा़ अधिकार का त्याग कर सकते हैं। इससे नीतभार टीम परारोही व्यवस्था करने में समर्थ होंगे। ऐसे आंकडा़ नीतभार टीम को प्रदान किए जाएँगे और स्वामित्व अवधि एओ प्रस्ताव के अनुसार ही होगा।

किसी भी उपकरण टीम या प्रधान अन्वेषक को यह अधिकार है कि वे स्वामित्व अवधि के समाप्त होने से पहले आंकडा़ को आइएसएसडीसी आंकडा़ संग्रह में रखने की सिफारिश करते हुए आइएसएसडीसी टीम (issdc_team@istrac.gov.in) को एक प्रति प्रेषित कर issdc@istrac.gov.in / astrosathelp@iucaa.inको ई-मेल द्वारा स्वामित्व अवधि को कम कर सकते हैं।

5.3  प्रकाशन

प्रस्तावक/अतिथि पर्यवेक्षक, समुचित पत्रिकाओं में प्रकाशन के माध्यम से वैज्ञानिक समूह को आँकड़ा विश्लेषण के प्रमुख परिणामों से अवगत कराएँगे।

सारांश में जिस नीतभार के आँकड़ों का प्रयोग कर विश्लेषण / व्याख्या किया गया, इस वाक्य “एस्ट्रोसैट-नीतभार के नाम सहित” के साथ उसका उल्लेख करते हुए, सभी प्रकाशन एस्ट्रोसैट आंकडा़ सेवा का उपयोग करेंगे।

कृपया एस्ट्रोसैट आंकडा़ का उपयोग कर लेख प्रकाशित करते समय निम्न अभिस्वीकृति को शामिल करें।

यह प्रकाशन भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के एस्ट्रोसैट मिशन से प्राप्त आंकडा़ का प्रयोग कर रहा है जिसे भारतीय अंतरिक्ष विज्ञान आंकडा़ केंद्र (आईएसएसडीसी) में संग्रहित किया गया है

यदि किसी प्रयोक्ता ने पहले प्रकाशित एस्ट्रोसैट परिणामों का उपयोग कर आगे की व्याख्या या मॉडलिंग की है तो अभिस्वीकृति में निम्न को शामिल किया जाए।

यह अनुसंधान (आंशिक रूप से या काफी हद तक) भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के एस्ट्रोसैट मिशन से प्राप्त परिणामों पर आधारित है जिसे भारतीय अंतरिक्ष विज्ञान आंकडा़ केंद्र (आईएसएसडीसी) में संग्रहित किया गया है।

इसरो एस्ट्रोसैट आंकडा़ से प्राप्त किसी/सभी परिणाम का अपनी रिपोर्टों तथा प्रकाशनों में ऐसी पत्रिकाओं एवं प्रकाशनों को संदर्भित करते हुए/आभार प्रकट करते हुए उपयोग कर सकता है जिसे प्रयोक्ता शैक्षणिक लेखों द्वारा पत्रिकाओं या अन्य प्रकाशनों में प्रकाशित करता है।