जुलाई 15, 2011

पीएसएलवी-सी17

ध्रुवीय उपग्रह प्रमोचक राकेट (पीएसएलवी-सी17) अपनी उन्नसवीं उडान में, सतीश धवन अन्तरिक्ष केन्द्र, शार, श्रीहरिकोटा, भारत के द्वितीय प्रमोचन पैड से भारत के संचार उपग्रह जीसैट-12 का प्रमोचन करेगा। 44.5मी. ऊँचे और 320टन उत्थापन भारवाले पीएसएलवी-सी17 में एकान्तर रूप से ठोस तथा द्रव नोदन प्रणाली के चार चारण हैं। अपने एक्सएल रूपान्तर में, पीएसएलवी-एक्सएल छः विस्तारित ठोस स्ट्रैप-ऑन मोटरों का उपयोग करता है जिसमें, प्रत्येक स्ट्रैप-ऑन 12 टन भारवाले ठोस नोदक का वहन करते हैं। यह दूसरी बार है जब ऐसा संरूपण भेजा जा रहा है, पहला पीएसएलवी-सी11/ चन्द्रयान-1 मिशन था। 
 

  • पहली बार, राकेट की प्राथमिक तथा अतिरिक्त कडियों, दोनो में विक्रम 1601 संसाधित्र सहित स्वदेशी रूप से डिजाइन किया गया और विकसित ऑनबोर्ड कम्प्यूटर (ओबीसी) का उपयोग। ओबीसी राकेट के लिए नौवहन, मार्गनिर्देश तथा नियंत्रण संसाधन के कार्य करता है।
  • विस्तारित ठोस स्ट्रैप-ऑन संरूपण का उपयोग
  • उपग्रह का दीर्घवृत्तीय अन्तरण कक्षा उप-भूतुल्यकाली अन्तरण कक्षा (जीटीओ) में अन्तःक्षेपण
  • जीसैट-12 उपग्रह को उसकी उप-जी.टी.ओ से भूस्थित कक्षा में स्थापित करने हेतु पाँच ज्वालन नीति (2 उपथू ज्वालन तथा 3 अपभू ज्वालन)
पीएसएलवी-सी17 चरणों की एक झलक
 
चरण-1
चरण-2
चरण-3
चरण-4
नामावली
क्रोड चरण (पीएस 1) + 6 स्ट्रैप ऑन मोटर
पीएस2
पीएस3
पीएस4
नोदक
ठोस (एचटीपीबी आधारित)
द्रव (यूएच25+N204)
ठोस(एचटीपीबी आधारित)
द्रव (एमएमएच +एमओएन-3)
द्रव्यमान (टन)
138.0(क्रोड) + 6x12.0(स्ट्रैप-ऑन)
41.0
7.6
2.5
अधिकतम प्रणोद (के एन)
4703(क्रोड)+ 6x670(स्ट्रैप-ऑन)
804
244
7.3 x 2
ज्वलन समय(सेकेंड)
107(क्रोड)55 (स्ट्रैप-ऑन)
151
116
510
चरण व्यास (मी)
2.8(क्रोड)
1.0(स्ट्रैप-ऑन)
2.8
2.0
2.8
चरण लम्बाई(मीटर)

20(क्रोड)
14.7 (स्ट्रैप-ऑन)

12.8
3.6
2.6