अप्रैल 26, 2012

पीएसएलवी-सी19

ध्रुवीय उपग्रह प्रमोचक राकेट (पी.एस.एल.वी-सी19) अपनी 21 वी उडान में भारत के पहले राडार प्रतिबिंबन उपग्रह (रिसैट-1) को ध्रुवीय वृत्ताकार कक्षा में 480 कि.मी. (+40.5 कि.मी ) तुंगता वाली कक्षा में 97.552o(+ 0.2o ) झुकाव के साथ प्रक्षेपित करेगा। 1858 कि.ग्रा. वजनी रिसैट-1, पी.एस.एल.वी द्वारा प्रमोचित सबसे भारवाला उपग्रह है। 

यह पी.एस.एल.वी उन्नत एक्सएल संस्करण की तीसरी उडान है, जिसमें छः विस्तारित ठोस इंधन वाले स्ट्रैप-आन मोटर, प्रत्येक 12 टन ठोस नोदक ले जायेगा। (इससे पहलेवाले दो पी.एस.एल.वी एक्सएल उडान चन्द्रयान-1 और जीसैट-12 संचार उपग्रह को ले गये थे)

पीएसएलवी-सी18 चरणों की एक झलक
 
चरण-1
चरण-2
चरण-3
चरण-4
नामावली
कोर चरण(पी.एस.1)+ 6स्ट्रॉप-आन मोटर
पीएस2
पीएस3
पीएस4
नोदक
ठोस (एचटीपीबी आधारित)
द्रव (यूएच25+N204)
ठोस(एचटीपीबी आधारित)
द्रव (एमएमएच +एमओएन-3)
द्रव्यमान (टन)
138.0(कोर)
6x12.0(स्ट्रप-आन)
41.7
7.6
2.5
अधिकतम प्रणोद (के एन)
4819(कोर)
6 x 716(स्ट्रप-आन)
804
240
7.3 x 2
ज्वलन समय(सेकेंड)
101.5(कोर)
49.5(स्ट्रप-आन)
149
112.1
523
चरण व्यास (मी)
2.8(कोर),
1.0(स्ट्रप-आन)
2.8
2.0
2.8
चरण लम्बाई(मीटर)

20(कोर)
14.7(स्ट्रप-आन)

12.8
3.6
2.6