Announcement of Opportunity (AO) soliciting proposals for Seventh AO cycle observations

AO procedures

Criteria for applying:

This announcement is open to Indian scientists/ researchers residing and working at institutes/Universities/colleges in India for 55% of time and to Non-Indian scientists/ researchers, Non-Resident Indians (NRIs), working at space agencies/ institutes/ Universities/ colleges around the globe for 20% time, who

  • are involved in research in the area of astronomy and
  • are equipped to submit proposals as Principal Investigators (PIs) for specific target observations with necessary scientific and technical justification and
  • can analyse the data, if the target is observed based on approvals.

1.   Introduction and Schedule

            AstroSat is the first dedicated Indian astronomy mission aimed at studying celestial sources in X-ray and UV spectral bands simultaneously, thus providing a space astronomy observatory operated by the Indian Space Research Organisation (ISRO).  The satellite is at 650 km near-equatorial orbit with 6-degree orbital inclination.

AstroSat completed three years and five months in orbit.  Currently, the fifth/sixth AO cycle proposals are being executed.  Proposers can refer to the Redbook in the ISSDC website for the list of observed targets.

The details on the mission and payloads are available in the ISRO website.  The technical details of payloads are described in the AstroSat Handbook.

A significant amount of AstroSat’s observing time is made available to PIs of proposals, both Indian and International.  The availability of AstroSat time will be made through Announcements of Opportunity (AO).  Electronic submission of proposals through AstroSat Proposal Processing System (APPS) software at ISSDC website will be required to submit a proposal in response to this AO.  Submitted proposals will be reviewed by the AstroSat Time Allocation Committee (ATAC) and AstroSat Technical Committee (ATC) for scientific merit and technical feasibility.

The observations will be planned as per mission scheduling. The PI will be informed, after the completion of successful observation for the downloading of processed Level-1 data. After the 12 months proprietary period, which starts from the day Level-1 is made available to the PI, the archived data will be open to registered users and will be available in ISSDC.

This AO soliciting proposals for the Seventh AO cycle is for Indian as well as international proposers as Principal Investigators (PIs) to utilise AstroSat observatory time.  The observations will be carried out in the period between October 2019 to September 2020 (approximately one year).

All announcements regarding exact dates and proposal submission will be from the Indian Space Science Data Centre (ISSDC) website (https://www.issdc.gov.in) and AstroSat science Support Cell (ASC) website (http://astrosat-ssc.iucaa.in/).

For all matters related to a proposal, the Principal Investigator (PI) of the proposal is the single point of contact for ISRO. The PI will be informed through e-mail about the status of the submitted proposals. It is expected that necessary facilities for carrying out the AO project will be provided by respective host institutions.

The deadline for submission of proposals will be announced in ISSDC and ASC websites.

2.  Observing cycles

In this Seventh AO cycle, 55% of observing time is available for Indian AO proposals and 20% of observing time is for International AO proposals.  5% time is allotted for Targets of Opportunity (ToO). 7% time is allotted for Legacy proposals. Rest of the 13% time in this cycle is allotted for collaborators and calibration.

2.1 AO cycle

AstroSat is operated in a pre-planned manner i.e proposers are not present at Mission Operations Complex during the execution of their observations. Thus, all observations must be specified in full details in advance.

  • The percentage of observing time for executing AO proposals during October 2019 – September 2020 is 87% and is termed as Seventh AO cycle.
  • Out of 87%, 55% time is exclusive for Indian proposers as Principal Investigators (PIs) to utilise AstroSat observatory time. They could be interested researchers, scientists and astronomy community at large, involved in scientific research in the field of astronomy and are equipped to submit proposals as Principal Investigators (PIs) for specific target observations with necessary scientific and technical justification and can analyse the data, if the target is observed based on approvals. In addition, 20% of the time is for international proposers from the global astronomy community. 
  • All the selected AO proposals will be inserted into the observing schedule. However, few observations approved in this AO cycle may be scheduled outside of the above period, in case there is operations requirement, which will be provided by AstroSat Mission.
  • Proposers are requested not to duplicate any of the planned observations and should carefully justify duplications if any, with performed observations. Proposers have to check the list of objects and instrument parameters for observations already/ being carried out using AstroSat. A Red book containing these targets will be made available in the ISSDC website. Proposers wishing to observe any of these targets should justify why it is important to do so and what additional information will come from the proposed observations. See also section 4.
  • Checks for duplications will be performed by ATAC while processing the proposals during the scientific review.

2.2 Targets of Opportunity (ToO) cycle

  • Proposals that require observation of phenomenon like outburst of a supernova or nova, observation of a new transient source or X-ray nova or study of characteristics of a source when it makes transition to a different state etc. and for which one cannot predict in advance the time of occurrence, must be submitted as ToO proposal and they will be reviewed by a separate ToO Committee.
  • A ToO cycle is always open for submitting proposals at present for any proposer. A provision of 5% observing time is reserved for ToO proposals.
  • Data of observations made using a ToO proposal during the allotted ToO time will be made public immediately.
  • If this time is not fully subscribed, it may be added to the time for the AO proposals.
  • Anticipated ToOs are ToOs whose source position is known but time of observation is not known or unpredictable. The proposal for anticipated ToOs can also be submitted through APPS, which will be reviewed by ATAC committee. The scientific justification needs to be really strong to clear the proposal and also has to get priority “A” for acceptance (refer APPS proposer's guide available in ASC website for details on anticipated ToOs and priority ranking for proposals). However when the event occurs, a ToO trigger proposal by the PI of the original proposal has to be submitted under ToO cycle to schedule the proposal. The data rights are same as that for AO proposals.

2.3 Legacy cycle

Proposals are also invited for AstroSat Legacy observation programmes. These are
meant to be focussed programmes of long-term value with a substantial requirement for observation time. During the year October 2019-September 2020 at least 2 Mega seconds of AstroSat stare time (7%) will be devoted to Legacy programmes. Legacy programmes will be selected and executed by the AstroSat Science Working Group on behalf of the
community. There will be no lock-in period for the Legacy data. Project ideas
with a scientific justification and a clear argument for its legacy value may be
sent as write-ups of length maximum four A4 pages to the Science Working Group
(astrosat-swg@iucaa.in).

The Legacy proposals will be sought through a new cycle (A08) in April/May, 2019.

3.   Overview of proposal preparation, validation, submission and selection

PIs of proposals  will have to submit proposals to ISRO by the deadline given in the ISSDC website using AstroSat Proposal Processing System (APPS) software. APPS is available online through https://apps.issdc.gov.in:8181/apps/auth/login.jsp. APPS is not downloadable and cannot be used off-line. An APPS proposer’s guide is available in ISSDC and ASC websites which elaborates on the proposal submission procedure.  A summary is provided in this section.

3.1 Proposal preparation pre-requisites

Depending on the scientific requirement, proposals to AstroSat can be submitted for observation with a single or more instruments. Proposals are to be made as per APPS proposer’s guide and this procedures document. Proposers can refer to Redbook for the list of observed targets.

AstroSat proposals will require the following information at the minimum.

  • Source coordinates, source angular size if extended, V magnitude, 2-10 keV flux, estimated count rates for different instruments, exposure times, UVIT bright source list, Astroviewer output for feasibility of observations of the target in pdf format. (use AstroSat tools listed in section 3.3)
  • Instrument configuration parameters such as instrument mode, filter, etc. (Ref. Handbook)
  • Scientific and technical justification.

3.2 APPS Instructions

Instructions to fill various entries within APPS to prepare proposals are available online. APPS proposer’s guide can also be referred for this purpose. Queries on APPS can be mailed to astrosathelp@iucaa.in for proposal preparation and submission. Queries will be answered on best effort basis.

3.3 Proposal Preparation Tools

Proposers can use the following tools in order to prepare an AstroSat proposal.

3.3.1 ASTROVIEWER - Tool to aid Celestial Source Viewing

The tool gives view periods of a selected celestial source for a prolonged period of one year maximum. Also, the view periods that satisfy all the constraints are provided orbit-wise so that the PIs of proposals can plan their observations more accurately and also season-wise. For UVIT payload users, view duration timings during eclipse that satisfies all envisaged constraints are available in a separate file as UVIT is expected to observe only in eclipse. The Tool has been designed to use the latest orbit information available on a daily basis and provides the various constraint angle characteristics in graphical plots so that GO can visualize the situation while planning for observations. The view period of the selected source is stored orbit wise and is made available in tabular form for the GO to use. Since the ram angle constraint for certain sources are on and off due to the closeness to the orbit inclination, this output contains flags ‘0’ for satisfying the constraint and ‘1’ for violating the constraint in the table. A Graphical User Interface program allows the user to interact remotely and obtain the required details. Additional information like Eclipse and occult Entry/Exit is also made available.

Geometrical Constraints

  • RAM angle (+ROLL and velocity vector) > 12˚
  • Terminator (+ROLL and Bright Earth Limb) > 12˚
  • Sun Angle (+ROLL and SUN) > 65˚
  • Angle b/w +YAW and SUN > 90˚, Angle b/w Star Sensor and SUN > 50˚
  • Angle b/w +ROLL and Albedo > 12˚

3.3.2 Portable Interactive Multi-Mission Simulator (PIMMS)

The AstroSat PIMMS package (downloadable from http://astrosat-ssc.iucaa.in/ or accessed online at http://astrosat-ssc.iucaa.in:8080/WebPIMMS_ASTRO/index.jsp) is an implementation of the Portable Interactive Multi-Mission Simulator package, originally distributed from NASA/GSFC High Energy Astrophysics Science Archive Research Centre (HEASARC). This implementation includes the effective area of AstroSat X-ray instruments and can be used to estimate source count rates in LAXPC, SXT, CZTI and SSM for a variety of input spectral models. A user manual is distributed in the downloadable version, and online help is available for the WebPIMMS version.

Response files: Response Matrix files and estimated background spectra are provided for LAXPC, SXT and CZTI payloads at the website http://astrosat-ssc.iucaa.in. These may be used to carry out spectral simulations for X-ray sources, for example with the fakeit command in HEASOFT XSPEC.

3.3.3 UVIT Exposure Time Calculator (ETC)

Help Page: http://uvit.iiap.res.in/Software/etc/Help Present Version: 2.0.0 (03 May, 2016). The UVIT Exposure Time Calculator (ETC) will help assess the feasibility of an observation. It calculates the expected count rate from a source in various UVIT filters, followed by either i) The Signal-to-Noise Ratio (SNR) achieved for a given observation time, or ii) The time required to reach a given SNR. Users may choose from a range of astronomical sources/spectra such as a star, black-body, galaxy, power law, etc. or choose to upload their own source spectrum.

3.3.4 Bright Source Warning Tool (BSWT)

Help Page:http://uvit.iiap.res.in/Software/bswt/Help Present Version 2.0.0 (26 April 2017).  Aim of the tool is to inform the proposer whether the region of the sky around a science target is safe / un-safe for UVIT to take observations. The program scans for stars brighter than the safety threshold and lists out the count rates of these bright stars in all the 10 filters in the FUV and NUV telescopes. This program identifies all the bright stars within 20 arcmin radius of the target object. See also guidelines document at the same website. Please note that as per the latest process used by UVIT this output is only used to check for filters of VIS (320-550 nm) channel; the checks for NUV/FUV filters are not made with this list. Hence the following mandatory checks are necessary.

Mandatory checks to be done for UVIT observations

The UVIT is not designed to observe very bright sources and the presence of a bright source in the UVIT field of observation can cause “Bright Object Trigger” in the hardware that would switch OFF all three detectors. In addition, the presence of an ultra-bright source near the UVIT field of view will scatter excessive radiation beyond the allowed limit. One of the UVITs, the VIS channel is primarily used for the spacecraft tracking. It is the proposers’ responsibility to ensure smooth tracking during their proposed observations. Hence the proposers need to exercise extra caution in preparing a proposal for UVIT observations. It is strongly recommended that the proposers follow the guideline described in detail in the document (please refer: http://astrosat-ssc.iucaa.in/uploads/APPS/AstroSat_proposers_guide_6March2018.pdf, v1.3, 03 March 2018) for mandatory checks to be done for UVIT observations.

3.4 Preparing an ASTROSAT proposal

First time proposers will need to register into the APPS before they can prepare proposals. Proposers may go through the APPS help document regarding submission of proposals.

3.5 Proposal handling in APPS

The receipt of each incoming proposal will be automatically acknowledged. At the end of submission date, the APPS will forward them to the ATAC for scientific review, while performing some assessments and preparing overall statistics on the response. All the committees are constituted by Chairman, ISRO.

The ATAC will assign priorities to each proposal as A, B and C (and, as needed, grade individual observations within a proposal). The ATAC may ask some proposers to reduce the observing time or the number of targets in a proposal. Such proposals will be made available for revision to the PIs. The proposers will be able to submit a revised proposal before the set deadline only for changes recommended by the ATAC. Such proposals, if not revised before the deadline, will be excluded from the list of successful proposal.

The technical feasibility of making the observations will be conducted by AstroSat Technical Committee (ATC) with support from Mission operations team.

One of the parameters used to plan which observations will be carried out during a particular orbit, is the priority of the observations as allocated by the ATAC and ATC. However, for operational reasons, no guarantee can be given that a particular observation will in fact be executed, regardless of its grade.

4.   Aspects of duplication

The general policy of the AstroSat is to avoid repeating the same observation, i.e. to avoid duplication.

In general, a duplication is determined by consideration of the target coordinates and of the main observing parameters (especially the instrument(s) and the observing modes). A proposed observation duplicates another one, if the expected science data are essentially the same or of lower requirement (e.g. lower exposure time) and is therefore discouraged. It is, however allowed, to observe the same target with the same instrument configuration several times for variability studies. In addition, in large extended objects several pointings in the vicinity of a source may become necessary e.g., to image Coma Cluster of galaxies out to 2 deg. diameter so as to cover its virial extent, and these may have co-ordinates that are not too different from that of the previous observation of a source.

The responsibility for defining and resolving cases of duplication rests with the ATAC. The ATAC can allow observations of same targets in a proposed observation and an observation of a previous cycle. These should be restricted to proposals which provide convincing evidence that additional data are of scientific relevance.

5.   Data processing, data rights and publication

After the completion of observation, the raw data received will be converted to Level-1 data at Indian Space Science Data Center (ISSDC). ISSDC is responsible for governing the ingest, Quick look Display (QLD), processing (for level-0/1), archival (all levels, along with the auxiliary data) and dissemination of payload data. The data will be in standard FITS format.

Level-1 data can be downloaded from the ISSDC website by the payload teams or Principal Investigators (PIs) of the proposals for science analysis as well as to produce higher level data products. Sample data, software and utilities are provided in the ASC website.

The PI will be informed, after the completion of successful observation for downloading of processed Level-1 data. The standard pipeline software from Level-1 to Level-2 and any other higher level standard products will be made available to the PIs of proposals through ISSDC website.

5.1 Proprietary period

There shall be a Proprietary period associated with observational data from all AstroSat instruments and in all phases and years after launch. This "proprietary period" would begin from the date the Level-1 data is made available to the payload teams and/or PIs of AO proposal.

During this proprietary period, the data will NOT BE USED by any persons or teams other than those who submitted the proposal(s) for the observations, except in cases where the PIs of proposals themselves involve such other persons.

The proprietary period for AO cycle data is 12 months. After the proprietary period, all data will be kept in ISSDC public archive which is accessible both nationally and internationally. It is the responsibility of the Payload Operation Centres (POCs) to provide Level-2 products with a quality report to ISSDC.  Target of Opportunity (ToO) observations which are taken from ToO observation time will be processed immediately to Level 1 data and will be placed in ISSDC archive. These data are non-proprietary and are open to public immediately after observation.

5.2   Data rights & obligations

The Principal Investigators (PIs) of all the proposals will have exclusive rights to all the data from the instruments he/ she has configured in the proposal amongst the co-aligned instruments (namely LAXPC, CZTI, SXT and twin telescope UVIT) for those fields that are observed with AstroSat against their proposals,

Data rights for other objects detected within the observed field of observation also belong to the PI of the proposal, unless they communicate not to have it. At present there is no way to separate target data and field data. The proposal PI may collaborate with payload teams (and vice versa) for analysis of data on field objects other than primary target.

The data rights of the instruments not configured by the PI will be made open for piggy back setting by payload teams.  Such data will be provided to the payload teams and proprietary period remains the same as AO proposal.

Any instrument team or PI has the right to reduce the proprietary period by sending an email to astrosathelp@iucaa.in with copy to ISSDC team (issdc_team@istrac.gov.in) recommending for placing the data in ISSDC data archive before the end of the proprietary period.

5.3 Publication

The proposers shall make available the salient results of the data analysis to the scientific community through publication in appropriate journals.  All the publications shall acknowledge the AstroSat data, by including a phrase “AstroSat -along with the name of the payload(s)” whose data is used for analysis/ interpretation in the abstract.

When publishing a paper using AstroSat data, please include the following acknowledgment.

“This publication uses the data from the AstroSat mission of the Indian Space Research Organisation (ISRO), archived at the Indian Space Science Data Centre (ISSDC)”.

If a user has used already published AstroSat results and carried out further interpretation or modeling, the following statement may be included in the acknowledgment.

“The research is based (partially or to a significant extent) on the results obtained from the AstroSat mission of the Indian Space Research Organisation (ISRO), archived at the Indian Space Science Data Centre (ISSDC)”.

ISRO may use any/all results that are derived from AstroSat data and published through academic papers in journals or any other publications by the user, for its own use, in its reports and publications with due reference/ acknowledgments to such journals and publications.

इसरो से संबंधित जानकारी का अभिलेख

मार्च 08, 2019 फरवरी, 2019 का एस्‍ट्रोसैट माह का चित्र
मार्च 07, 2019 श्री जेन येव्‍स ली गाल, अध्‍यक्ष, फ्रांस राष्‍ट्रीय अंतरिक्ष एजेंसी (सी.एन.ई.एस.) ने 06 मार्च, 2019 को इसरो मुख्‍यालय का दौरा किया।
मार्च 06, 2019 Announcement of Opportunity (AO) soliciting proposals for Seventh AO cycle observations
मार्च 06, 2019 अंतरिक्ष-राष्‍ट्रीय शैक्षिक सहयोगी (एस.-एन.ए.पी.) : अवसर की घोषणा
फ़रवरी 22, 2019 अध्‍यक्ष, यू‍क्रेन अंतरिक्ष एजें‍सी ने इसरो मु. का दौरा किया
फ़रवरी 22, 2019 रूसी राजदूत ने इसरो मु. तथा एच.एस.एफ.सी. का दौरा किया
फ़रवरी 22, 2019 ब्रिटिश उच्‍चायुक्‍त ने इसरो मु. का दौरा किया
फ़रवरी 22, 2019 जे.एस.सी. “रोसोबोरोनएक्‍सपोर्ट” पदाधिकारी ने इसरो मु. का दौरा किया
फ़रवरी 13, 2019 संस्‍थानों में इसरो की पीठ स्‍थापित करने के लिए अवसर की घोषणा (ए.ओ.) – जमा करने की अंतिम तिथि 08 मार्च, 2019 तक बढ़ाई गई है।
फ़रवरी 13, 2019 यु‍वा विज्ञानी कार्यक्रम की शुरुआत
फ़रवरी 09, 2019 जीसैट-31 संचार उपग्रह को 6 फरवरी, 2019 को दीर्घवृत्‍तीय भूतुल्‍यकाली अंतरण कक्षा में अंत:क्षेपित करने के बाद, उपग्रह की नोदन प्रणाली का उपयोग करते हुए तीनों कक्षा संवर्धन युक्तिचालन योजनानुसार, सफलतापूर्वक पूरे कर लिए गए हैं ।
फ़रवरी 07, 2019 आज(7 फरवरी, 2019) 0438 बजे (भा.मा.स.) 4684 सेकेंड की अवधि के लिए उपग्रह के द्रव अपभू मोटर (एल.ए.एम.) इंजन को ज्‍वलित कर जीसैट-31 उपग्रह का प्रथम कक्षा संवर्धन युक्तिचालन किया गया ।
जनवरी 31, 2019 एस्‍ट्रोसैट का जनवरी 2019 का चित्र
जनवरी 30, 2019 समानव अंतरिक्ष उड़ान केंद्र (एच.एस.एफ.सी.) का उद्घाटन
जनवरी 30, 2019 राष्‍ट्रीय अंतरिक्ष विज्ञान संगोष्‍ठी (एन.एस.एस.एस.) - 2019
जनवरी 29, 2019 संदर्भ: अर्हता हेतु अनुरोध(आर.एफ.क्‍यू.) – इसरो द्वारा भारतीय उद्योगों को लीथियम-आयन सेल का प्रौद्योगिकी अंतरण
जनवरी 24, 2019 श्रीहरिकोटा में विद्यार्थियों के साथ बात-चीत
जनवरी 24, 2019 पी.एस.एल.वी.-सी44 मिशन – पी.एस.एल.वी.-सी44 के द्वितीय चरण(पी.एस.2) के लिए नोदन यू.एच.25 का भरण कार्य संपन्‍न
जनवरी 24, 2019 पी.एस.एल.वी.-सी44 मिशन – पी.एस.एल.वी.-सी44 के द्वितीय चरण(पी.एस.2) के लिए नोदन यू.एच.25 का भरण कार्य प्रारंभ
जनवरी 24, 2019 पी.एस.एल.वी.-सी44 मिशन –द्वितीय चरण(पी.एस.2) के लिए ऑक्‍सीडाइजर (N2O4) का भरण कार्य संपन्‍न
जनवरी 24, 2019 पी.एस.एल.वी.-सी44 मिशन – पी.एस.एल.वी.-सी44 के चतुर्थ चरण(पी.एस.4) के लिए नोदन भरण कार्य संपन्‍न
जनवरी 23, 2019 सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र (एस.डी.एस.सी.) शार, श्रीहरिकोटा में आज (भा.मा.स.) 19:37 बजे पी.एस.एल.वी.-सी44 मिशन के प्रमोचन की उल्‍टी गिनती प्रारंभ हुई। इसका प्रमोचन 24 जनवरी, 2019 को (भा.मा.स.) 23:37 बजे होना निर्धारित है।
जनवरी 17, 2019 अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी उद्भवन केंद्र, राष्‍ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्‍थान, जलंधर, पंजाब का उद्घाटन
जनवरी 16, 2019 संस्‍थानों में इसरो की पीठ स्‍थापित करने के लिए अवसर की घोषणा (ए.ओ.)
जनवरी 11, 2019 प्रेस वार्ता का वीडियो – डॉ. कै.शिवन, अध्‍यक्ष, इसरो द्वारा दी गई जानकारी
जनवरी 11, 2019 पत्रकार वार्ता – डॉ. कै. शिवन, अध्‍यक्ष, इसरो द्वारा ब्रीफिंग
जनवरी 11, 2019 पी.एस.एल.वी. का उत्‍पादनीकरण
जनवरी 01, 2019 नव वर्ष के दिन विद्यार्थियों से बात-चीत का वीडियो
जनवरी 01, 2019 अध्‍यक्ष महोदय की मेज से संदेश
दिसम्बर 27, 2018 जी.एस.एल.वी.-एफ11/जीसैट-7ए मिशन के क्रायोजेनिक चरण(सी.15) का नोदन भरण प्रारंभ।
दिसम्बर 24, 2018 जीसैट-7ए पर अद्यतन जानकारी
दिसम्बर 20, 2018 आज(20 दिसंबर को) भा.मा.स. 0916 बजे उपग्रह के द्रव अपभू मोटर(एल.ए.एम.) इंजन को ज्व्लित करते हुए 3895 सेकेंड की अवधि के लिए जीसैट-7ए उपग्रह का पहला कक्षा संवर्धन युक्तिचालन सफलतापूर्वक
दिसम्बर 19, 2018 जीसैट-7ए पर अंतरिक्षयान चालू किया गया
दिसम्बर 19, 2018 जी.एस.एल.वी.-एफ11/जीसैट-7ए मिशन के क्रायोजेनिक चरण(सी.15) का नोदन भरण संपन्नश ।
दिसम्बर 18, 2018 जी.एस.एल.वी.-एफ11/जी.सैट-7ए मिशन - द्वितीय चरण (जी.एस.2) का नोदन भरण पूरा हुआ
दिसम्बर 18, 2018 जी.एस.एल.वी.-एफ11/जी.सैट-7ए मिशन - द्रव स्‍ट्रैप-ऑन (एल.40) का नोदन भरण प्रारंभ
दिसम्बर 18, 2018 जी.एस.एल.वी.-एफ11/जी.सैट-7ए मिशन - द्रव स्‍ट्रैप-ऑन (एल.40) का नोदन भरण पूरा हुआ
दिसम्बर 18, 2018 जी.एस.एल.वी.-एफ11/जी.सैट-7ए मिशन - द्वितीय चरण (जी.एस.2) का नोदन भरण प्रारंभ
दिसम्बर 18, 2018 आज, भा.मा.स. 14:10 बजे सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र (एस.डी.एस.सी.) शार, श्रीहरिकोटा से जी.एस.एल.वी.-एफ.11/जी.सैट-7ए. मिशन के प्रमोचन की उल्‍टी गिनती प्रारंभ हुई। इसका प्रमोचन 19 दिसंबर, 2018 को भा.मा.सं. 16:10 बजे निर्धारित है।
दिसम्बर 10, 2018 जीसैट -11 को भूस्थिर कक्षा में स्थाबपित किया गया
दिसम्बर 08, 2018 जीसैट -11 पर कक्षा संवर्धन युक्तिचालन आयोजित किए गए
दिसम्बर 07, 2018 हाईसिस द्वारा लिए गए अतिस्पेचक्ट्रकमी आँकड़े के चित्र की झलक
दिसम्बर 04, 2018 आज (04 दिसंबर, 2018) भा.मा.स. 13:14 बजे फ्रेंच गियाना से एरियाने-5 प्रमोचक राकेट द्वारा जीसैट -11 के प्रमोचन की उल्टी् गिनती प्रारंभ हुई । इसका प्रमोचन 05 दिसंबर, 2018 को भा.मा.स. 02:07 बजे निर्धारित है।
दिसम्बर 02, 2018 हाईसिस से लिए गए पहले दिन का चित्र
नवंबर 30, 2018 एस्ट्रोससैट का नवंबर 2018 माह का चित्र
नवंबर 28, 2018 पी.एस.एल.वी.-सी43/हाईसिस मिशन: पी.एस.4 चरण (चतुर्थ चरण) में नोदन भरण का कार्य पूरा हुआ
नवंबर 28, 2018 पी.एस.एल.वी.-सी43 का उड़ान समय 29 नवंबर, 2018 को भा.मा.स. 09:58 बजे पर पुन: निर्धारित किया गया है। इसकी उल्टीु गिनती 28 नवंबर, 2018 को भा.मा.स. 05:58 बजे प्रारंभ की जाएगी ।
नवंबर 28, 2018 केंद्र(एस.डी.एस.सी.) शार, श्रीहकिोटा से प्रमोचक पी.एस.एल.वी.-सी43/हाईसिस मिशन के प्रमोचन हेतु उल्टीद गिनती प्रारंभ हुई । इसका प्रमोचन 29 नवंबर, 2018 को भा.मा.स. 09:58 बजे निर्धारित है।
नवंबर 28, 2018 स्प्रोरब द्वारा 1000वाँ संचकन पूरा हुआ
नवंबर 28, 2018 पी.एस.एल.वी.-सी43/हाईसिस मिशन: पी.एस.एल.वी.-सी43 के द्वितीय चरण(पी.एस.2) में नोदन भरण का कार्य प्रारंभ
नवंबर 28, 2018 पी.एस.एल.वी.-सी43/हाईसिस मिशन: पी.एस.एल.वी.-सी43 के द्वितीय चरण(पी.एस.2) में ऑक्सीभडाइजर(N204) भरण का कार्य पूरा हुआ
नवंबर 28, 2018 पी.एस.एल.वी.-सी43/हाईसिस मिशन: पी.एस.एल.वी.-सी43 के द्वितीय चरण(पी.एस.2) में नोदन भरण का कार्य पूरा हुआ
नवंबर 27, 2018 पी.एस.एल.वी.-सी43/हाईसिस मिशन के प्रमोचन हेतु उल्टीी गिनती फिलहाल, 28 नवंबर, 2018 को भा.मा.स. 05:57 बजे सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र(एस.डी.एस.सी.) शार, श्रीहकिोटा से शुरू होना निर्धारित किया गया है । फिलहाल इसका प्रमोचन 29 नवंबर, 2018 को भा.मा.स. 09:57 बजे न
नवंबर 17, 2018 जीसैट-29 उपग्रह का तीसरा तथा अंतिम कक्षा संवर्धन प्रचालन उपग्रह के द्रव अपभू मोटर (एल.ए.एम.) इंजन को ज्वकलित करते हुए आज (17 नवंबर, 2018) भा.मा.स. 09:57 बजे 207 सेकेंड की अवधि के लिए सफलतापूर्वक किया गया।
नवंबर 16, 2018 जी.एस.एल.वी. मार्क-III-डी2/जीसैट-29 मिशन: आज (16 नवंबर, 2018) भारतीय समयानुसार 10:27 बजे
नवंबर 15, 2018 जी.एस.एल.वी. मार्क-III-डी2/जीसैट-29 मिशन: आज (15 नवंबर, 2018) भारतीय समयानुसार 08:34 बजे
नवंबर 14, 2018 जी.एस.एल.वी. मार्क-III-डी2/जीसैट-29 मिशन प्रमोचन: क्रायोजेनिक चरण में द्रव आक्‍सीजन के भरने का कार्य पूरा कर लिया गया तथा द्रव हाइड्रोजन भरा जा रहा है।
नवंबर 14, 2018 जी.एस.एल.वी. मार्क-III-डी2/जीसैट-29 मिशन प्रमोचन – जीसैट-29 उपग्रह का विद्युत प्रवाह जारी है। यह एक बहु-बैंड उच्‍च क्षमता वाला संचार उपग्रह है। यह इसरो द्वारा बनाया गया 33वां संचार उपग्रह है।
नवंबर 14, 2018 जी.एस.एल.वी. मार्क-III-डी2/जीसैट-29 मिशन प्रमोचन
नवंबर 14, 2018 जी.एस.एल.वी. मार्क-III-डी2/जीसैट-29 मिशन प्रमोचन – प्रमोचक राकेट उड्डयानिकी का परीक्षण (स्‍वास्‍थ्‍य जाँच) पूरा किया जा चुका।
नवंबर 13, 2018 एस्‍ट्रोसैट अभिसंग्रही आँकड़ा के उपयोग हेतु अवसर की घोषणा (ए.ओ.)
नवंबर 13, 2018 श्री आ.सी. किरण कुमार अंतरराष्‍ट्रीय वॉन कर्मन विंग्‍स पुरस्‍कार से सम्‍मानित
नवंबर 13, 2018 श्रीहरिकोटा में सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र शार से आज भारतीय समयानुसार 14:50 बजे जी.एस.एल.वी. मार्क III डी-2/जीसैट-29 मिशन के प्रमोचन की उलटी गिनती शुरु हुई। प्रमोचन 14 नवंबर, 2018 को भारतीय समयानुसार 17:08 बजे निर्धारित है।
नवंबर 07, 2018 प्रोफे. सतीश धवन को गालकिट सम्‍मान
नवंबर 07, 2018 सुक्ष्‍मगुरुतव प्रयोगों पर आधारित निम्‍न भू क्‍क्षा हेतु अवसर की घोषणा (ए.ओ.)
नवंबर 06, 2018 Announcement of Opportunity (AO) to international science community for Space-Based Experiments to Study Venus
अक्टूबर 31, 2018 एस्ट्रो।सैट माह का चित्र (अक्टूबर 2018)
अक्टूबर 26, 2018 CHANDRAYAAN-2 LANDER ACTUATOR PERFORMANCE TEST (LAPT PHASE-2)
अक्टूबर 23, 2018 Release of three publications on Indian Space Programme
अक्टूबर 13, 2018 मेगा-ट्रॉपिक्सभ के कक्षा में सात वर्ष सफलतापूर्वक पूर्ण
अक्टूबर 12, 2018 इसरो ने जी.एस.एल.वी. मार्क- III / चंद्रयान-2 मिशन के लिए क्रायोजेनिक इंजन (सी.ई.-20) की सफलतापूर्वक जाँच की
अक्टूबर 04, 2018 एस्ट्रोभसैट के तीन वर्ष
अक्टूबर 04, 2018 डॉ. कै.शिवन ब्रेमेन, जर्मनी में
अक्टूबर 04, 2018 इसरो मु. में चंद्र विज्ञान पर बैठक
अक्टूबर 04, 2018 एस्ट्रोhसैट –माह की तस्वीवर: सितंबर 2018
सितंबर 26, 2018 एस्‍ट्रोसैट अभिसंग्रही आंकड़ा प्रकाशित
सितंबर 26, 2018 मॉम के तीसरे वर्ष के आंकड़े प्रकाशित
सितंबर 24, 2018 मंगल कक्षित्र मिशन (एम.ओ.एम.) के कक्षा में वचार वर्ष पूरे
सितंबर 19, 2018 Visit of Chairman of Algerian Space Agency Governing Body & Director General of Algerian Space Agency (ASAL) to ISRO
सितंबर 19, 2018 राजभाषा कीर्ति पुरस्‍कार 2018
सितंबर 18, 2018 Inauguration of Space Technology Incubation Centre, National Institute of Technology, Agartala, Tripura
सितंबर 16, 2018 Launch at a glance
सितंबर 16, 2018 Inauguration of S-band Polarimetric Doppler Weather Radar at SDSC SHAR by Chairman ISRO
सितंबर 15, 2018 The countdown begun today at 01:08 pm (IST) for the launch of PSLV C42 from Satish Dhawan Space Centre, Sriharikota. The scheduled launch is at 10:08 pm (IST) tomorrow.
सितंबर 15, 2018 The countdown begun today at 01:08 pm (IST) for the launch of PSLV C42 from Satish Dhawan Space Centre, Sriharikota. The scheduled launch is at 10:08 pm (IST) tomorrow.
सितंबर 13, 2018 PSLV-C42 Mission Launch is scheduled on September 16, 2018
सितंबर 06, 2018 भारतीय अंतरिक्ष पारिस्थितिकी में गतिशीलता का सृजन
अगस्त 30, 2018 माह का एस्‍ट्रोसैट चित्र- अगस्‍त 2018
अगस्त 16, 2018 इसरो मुख्‍यालय में 72वाँ स्‍वतंत्रता दिवस समारोह
अगस्त 12, 2018 डॉ. विक्रम साराभाई का जन्‍म तिथि समारोह
अगस्त 10, 2018 छठा बेंगलूर एक्‍सपो 2018, 6-8 सितंबर, 2018
अगस्त 06, 2018 वी.एस.एस.सी. द्वारा विकसित लीथियम आयन सेल प्रौद्योगिकी का उद्योग को अंत‍रण
जुलाई 30, 2018 माह का एस्ट्रोवसैट चित्र (ए.पी.ओ.एम)- जुलाई, 2018
जुलाई 21, 2018 इसरो तथा ई.आई.एल. के बीच समझौता ज्ञापन
जुलाई 15, 2018 उच्च प्रणोद विकास इंजन की सफल अर्हता
जुलाई 02, 2018 माह का एस्ट्रोमसैट चित्र (जून, 2018)
जून 12, 2018 लीथियम-आयन प्रौद्योगिकी अंतरण
मई 28, 2018 एस्ट्रो।सैट माह का चित्र (मई 2018)
अप्रैल 30, 2018 एस्ट्रोiसैट – इस माह की तस्वी/र (अप्रैल 2018)
अप्रैल 25, 2018 वर्ष 2018 के लिए “इंटरनैशनल वॉन कारमैन विंग्स्च अवार्ड” के लिए श्री आ.सी. किरण कुमार का चयन किया गया है
अप्रैल 15, 2018 15 अप्रैल, 2018 को भा.मा.स. 21:05 बजे आई.आर.एन.एस.एस.-1आई का चौथा एवं अंतिम कक्षा संवर्धन प्रचालन सफलतापूर्वक किया गया । प्राप्त की गई उपभू ऊँचाई 35,462.9 कि.मी. तथा अपभू ऊँचाई 35,737.8 कि.मी. है ।
अप्रैल 15, 2018 14 अप्रैल, 2018 को भा.मा.स. 22:50 बजे आई.आर.एन.एस.एस.-1आई का तीसरा कक्षा संवर्धन प्रचालन सफलतापूर्वक किया गया । प्राप्त की गई उपभू ऊँचाई 31,426 कि.मी. तथा अपभू ऊँचाई 35,739.8 कि.मी. है ।
अप्रैल 14, 2018 14 अप्रैल, 2018 को भा.मा.स. 22:50 बजे आई.आर.एन.एस.एस.-1आई का तीसरा कक्षा संवर्धन प्रचालन सफलतापूर्वक किया गया । प्राप्त की गई उपभू ऊँचाई 31,426 कि.मी. तथा अपभू ऊँचाई 35,739.8 कि.मी. है ।
अप्रैल 14, 2018 13 अप्रैल, 2018 को भा.मा.स. 20:04 बजे आई.आर.एन.एस.एस.-1आई का द्वितीय कक्षा संवर्धन प्रचालन सफलतापूर्वक किया गया । प्राप्तt की गई उपभू ऊँचाई 8683 कि.मी. तथा अपभू ऊँचाई 35,733 कि.मी. है ।
अप्रैल 13, 2018 13 अप्रैल, 2018 को भा.मा.स. 20:04 बजे आई.आर.एन.एस.एस.-1आई का द्वितीय कक्षा संवर्धन प्रचालन सफलतापूर्वक किया गया ।
अप्रैल 13, 2018 13 अप्रैल, 2018 को भा.मा.स. 4:19 बजे आई.आर.एन.एस.एस.-1आई का पहला कक्षा संवर्धन प्रचालन सफलतापूर्वक किया गया ।
अप्रैल 12, 2018 13 अप्रैल, 2018 को भा.मा.स. 4:19 बजे आई.आर.एन.एस.एस.-1आई का पहला कक्षा संवर्धन प्रचालन आयोजित करने की योजना बनाई गई है । लक्षित उपभू ऊँचाई 322 कि.मी. तथा अपभू ऊँचाई 35,887 कि.मी. है
अप्रैल 10, 2018 12 अप्रैल, 2018 को भा.मा.स. 04:04 बजे निर्धारित पी.एस.एल.वी;-सी.41/ आई.आर.एन.एस.एस.-1आई. मिशन के प्रमोचन हेतु मंगलवार, 10 अप्रैल, 2018 को भा.मा.स. 04:04 बजे 32 घण्टोंं की उल्टीई-गिनती की कार्रवाई प्रारंभ की गई है
अप्रैल 10, 2018 क्रायो चरण का नोदन भरण कार्य प्रगति पर
अप्रैल 01, 2018 31 मार्च, 2018 को लगभग 53 मिनट तक के लिए एल.ए.एम. इंजन को प्रज्वलित करते हुए जीसैट-6ए उपग्रह का दूसरा कक्षा संवर्धन प्रचालन सफलतापूर्वक किया गया ।
मार्च 29, 2018 जी.एस.एल.वी.-एफ08 द्वारा जीसैट-6ए का सफलतापूर्वक प्रमोचन
मार्च 29, 2018 जी.एस.एल.वी.-एफ08/जीसैट-6ए – जीसैट-6ए उपग्रह पृथक हुआ
मार्च 29, 2018 जी.एस.एल.वी.-एफ08/जीसैट-6ए – जीसैट-6ए उपग्रह पृथक हुआ
मार्च 29, 2018 जी.एस.एल.वी.-एफ08/जीसैट-6ए – क्रायोजेनिक इंजन बंद
मार्च 29, 2018 जी.एस.एल.वी.-एफ08/जीसैट-6ए – क्रायोजेनिक ऊपरी चरण का कार्य-निष्पाजदन सामान्यए
मार्च 29, 2018 जी.एस.एल.वी.-एफ08/जीसैट-6ए – क्रायोजेनिक ऊपरी चरण का इ्ंजन प्रज्वनलित। तृतीय चरण का कार्य-निष्पा दन सामान्यक
मार्च 29, 2018 जी.एस.एल.वी.-एफ08/जीसैट-6ए – नीतभार फेयरिंग पृथक हुआ
मार्च 29, 2018 जी.एस.एल.वी.-एफ08/जीसैट-6ए – द्वितीय चरण का कार्य-निष्पा दन सामान्य
मार्च 29, 2018 जी.एस.एल.वी.-एफ08/जीसैट-6ए एल.40 इंजन बंद
मार्च 29, 2018 जी.एस.एल.वी.-एफ08/जीसैट-6ए प्रथम चरण का कार्य-निष्पाLदन सामान्या
मार्च 29, 2018 जी.एस.एल.वी.-एफ08/जीसैट-6ए उत्था पन सामान्यय
मार्च 29, 2018 मिशन निदेशक ने राकेट निदेशक को प्रमोचन हेतु प्राधिकृत किया। राकेट निदेशक ने भा.मा.स. 16:40 बजे स्वVचालित प्रमोचन क्रम को शुरू करना प्राधिकृत किया
मार्च 29, 2018 क्रायो चरण का नोदन भरण कार्य पूरा किया गया
मार्च 29, 2018 क्रायो चरण का नोदन भरण कार्य प्रगति पर ।
मार्च 29, 2018 वास्तोविक समय प्रणाली अनुकार जाँच पूर्ण । उल्टीo गिनती सामान्यa तरीके से चल रही है।
मार्च 29, 2018 एल.40 चरण का नोदन भरण कार्य भा.मा.स. 02:20 बजे तक पूरा कर लिया गया
मार्च 28, 2018 एल.40 चरण का नोदन भरण कार्य प्रगति पर। उल्टीo गिनती सामान्य: तरीके से चल रही है।
मार्च 28, 2018 भा.मा.स. 19:45 बजे तक द्वितीय चरण (जी.एस.2) यू.एच.25 का भरण कार्य पूरा किया गया
मार्च 28, 2018 द्वितीय चरण (जी.एस.2) UH25 का भरण कार्य प्रगति पर
मार्च 28, 2018 द्वितीय चरण (जी.एस.2) UH25 का भरण कार्य की तैयारी प्रगति पर।
मार्च 28, 2018 द्वितीय चरण (जी.एस.2) N2O4 का भरण कार्य प्रगति पर
मार्च 28, 2018 द्वितीय चरण (जी.एस.2) N2O4 का भरण कार्य प्रगति पर
मार्च 28, 2018 जी.एस.एल.वी.-एफ08 द्वितीय चरण (जी.एस.2) नोदन भरण कार्य की तैयारी प्रगति पर ।
मार्च 28, 2018 जी.एस.एल.वी.-एफ08/जीसैट-6ए मिशन के प्रमोचन के लिए 27 घंटों की उल्टी गिनती 28 मार्च, 2018 को भा.मा.स. 13:56 बजे शुरू हुई।
मार्च 27, 2018 मिशन तैयारी समीक्षा (एम.आर.आर.) समिति तथा प्रमोचन अधिकरण बोर्ड (एल.ए.बी.) ने बुधवार, 28 मार्च 2018 को भा.मा.स. 13:50 बजे शुरू होने वाली 27 घंटों की उल्टीग गिनती गतिविधि तथा गुरूवार 29 मार्च 2018 को भा.मा.स. 16:56 बजे जी.एस.एल.वी.-एफ08/जीसैट-6ए के प्रमोचन
मार्च 24, 2018 भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ‘36 घण्टोंn के स्माaर्ट इंडिया हैकेथॉन 2018 के ग्राण्डी फिनाले’ के लिए मुस्तैरद ।
मार्च 13, 2018 10 मार्च, 2018 की सूचना सुरक्षा की घटना /
फ़रवरी 28, 2018 एस्ट्रो्सैट: पिक्चnर ऑफ द मंथ (विज्ञान दिवस – फरवरी 2018)
फ़रवरी 27, 2018 एस्ट्रो्सैट: पिक्चnर ऑफ द मंथ (जनवरी 2018)
फ़रवरी 13, 2018 अध्य-क्ष, इसरो का एन.डी;टी.वी. के साथ साक्षात्कारर
फ़रवरी 02, 2018 एस्ट्रोहसैट : चतुर्थ अवसर की घोषणा (अ.की घो.) के दौर के प्रेक्षणों के लिए प्रस्ता व माँगते हुए अ.की घो.
जनवरी 29, 2018 स्वच्छता पखवाड़ा(1 से 15 फरवरी, 2018)
जनवरी 27, 2018 भारतीय उद्योगों के लिए नाविक संदेश अभिग्राही उप्तादों हेतु इसरो प्रौद्योगिकी की तकनीकी जानकारी
जनवरी 23, 2018 आईएनएस और माइक्रोसैट के प्रतिबिंब
जनवरी 16, 2018 कार्टोसैट-2 श्रृखला उपग्रह का पहला प्रतिबिंब
जनवरी 12, 2018 मिशन निदेशक ने प्रमोचन के लिए वाहन निदेशक को अधिकृत किया है। वाहन निदेशक ने स्वचालित प्रमोचन अनुक्रम (एएलएस) कार्यक्रम शुरू करने के लिए प्रधिकृत किया और एएलएस 09:13 बजे आईएसटी पर शुरू हो गया है।
जनवरी 12, 2018 पीएसएलवी-सी 40 / कार्टोसैट -2 श्रृंखला मिशन - उत्थापन सामान्य
जनवरी 12, 2018 ताप कवच का पृथकरण। प्रदर्शन सामान्य है ।
जनवरी 12, 2018 दूसरा चरण बंद हो गया । तीसरे चरण का प्रज्वलित । निष्पादन सामान्य है ।
जनवरी 12, 2018 वाहन निःशक्ति सामान्य ।
जनवरी 12, 2018 तीसरे चरण का पृथकरण । चौथा चरण प्रज्वलित ।
जनवरी 12, 2018 चौथे चरण का निष्पादन सामान्य है ।
जनवरी 12, 2018 चौथे चरण का निष्पादन सामान्य है ।
जनवरी 12, 2018 चौथे चरण का इंजीन बंद हुआ ।
जनवरी 12, 2018 कार्टोसैट उपग्रह पृथक हुआ ।
जनवरी 12, 2018 लिओ –पी1, पीओसी-पी 1 उपग्रह पृथक हुए ।
जनवरी 12, 2018 सभी नानो उपग्रह सफलतापूर्वक पृथक हुए ।
जनवरी 12, 2018 पीएसएलवी-सी40 ने कार्टोसैट -2 श्रृंखला उपग्रह को सफलतापूर्वक प्रमोचित किया।
जनवरी 12, 2018 पीएसएलवी-सी -40 ने 30 सह-यात्री उपग्रहों के साथ कार्टोसैट -2 श्रृंखला उपग्रह का सफलतापूर्वक प्रमोचन किया
जनवरी 11, 2018 पीएसएलवी-सी 40 / कार्टोसैट2 श्रृंखला उपग्रह मिशन की 28 घंटे की उलटी गिनती की गतिविधि गुरुवार, 11 जनवरी, 2018 को 05:29 बजे आईएसटी से शुरू हो गई है।
जनवरी 11, 2018 पीएसएलवी-सी 40 के चौथे चरण (पीएस 4) में नोदक भरने का कार्य प्रगति पर है
जनवरी 11, 2018 चल सेवा टॉवर (एमएसटी) की पार्किंग सीरे से वापसी पूरी का गई है। द्वितीय चरण (पीएस 2) में नोदक भरने के काम प्रगति पर है।
जनवरी 11, 2018 पीएसएलवी-सी 40 / कार्टोसैट -2 श्रृंखला मिशन- द्वितीय चरण (पीएस 2)में नोदक भरने का कार्य प्रगति पर है
जनवरी 11, 2018 पीएसएलवी-सी 40 के चौथे चरण (पीएस 4) में नोदक भरने का कार्य पूरा हो गया है। उलटी गिनती का कार्य सामान्य रूप से चल रहा है।
जनवरी 10, 2018 मिशन तैयारी समीक्षा (एमआरआर) समिति और प्रमोचन प्राधिकार बोर्ड (एलएबी) ने गुरुवार, 11 जनवरी, 2018 को पीएसएलवी-सी 40 / कार्टोसैट2 श्रृंखला उपग्रह मिशन के 28 घंटे की उलटी गीनती 05:29 बजे आईएसटी से
जनवरी 09, 2018 अध्यक्ष, इसरो के साथ "सीधी बात"
जनवरी 08, 2018 एस्ट्रो सैट : अवसर की घोषणा (अ.की घो.) के चौथे दौर के प्रेक्षणों के लिए प्रस्ताफव माँगते हुए अवसर की घोषणा
दिसम्बर 29, 2017 द्रव नोदन प्रणाली केंद्र का पर्ल जयंती समारोह
दिसम्बर 28, 2017 एस्ट्रोसैट माह का चित्र (दिसंबर 2017)
नवंबर 28, 2017 माह का एस्ट्रोसैट चित्र (नवंबर 2017)
नवंबर 21, 2017 "अंतिरक्ष गतिविधि विधेयक, 2017" के मसौदे पर संबंधित हितधारक / जनता से टिप्पणियां मांगना- के संबंध में
अक्टूबर 28, 2017 माह का एस्ट्रोसैट चित्र - अक्टूबर 2017
अक्टूबर 23, 2017 एपीआरएसएएफ़ -24 पोस्टर प्रतियोगिता के लिए भारतीय छात्रों के तीन पोस्टर्स का चयन किया गया
अक्टूबर 17, 2017 एस्ट्रोसैट ने गुरुत्वाकर्षण तरंग खगोलिकी की गाथा में योगदान दिया
सितंबर 28, 2017 एस्ट्रोसैट ने कक्षा में 2 साल पूरे किए
सितंबर 26, 2017 एस्ट्रोसैट से माह का चित्र - सितंबर 2017
सितंबर 25, 2017 इसरो ने मोम द्वितीय वर्ष के विज्ञान के आंकड़ों को जारी किया
अगस्त 31, 2017 पीएसएलवी-सी 39/आईआरएनएसएस -1एच मिशन असफल
अगस्त 31, 2017 पीएसएलवी-सी 39/आईआरएनएसएस -1एच मिशन उत्थापन सामान्य
अगस्त 31, 2017 मिशन निदेशक ने वाहन निदेशक को प्रमोचन की मंजूरी दी । वाहन निदेशक द्वारा स्वतचालित प्रमोचन सारणी (एएलएस) शुरू करने की अनुमति दी गई और पीएसएलवी-सी 39/आईआरएनएसएस -1एच उपग्रह मिशन का 18:47बजे आईएसटी पर प्रमोचन के लिए एएलएस शुरू हुआ ।
अगस्त 31, 2017 पीएसएलवी-सी 39/आईआरएनएसएस -1एच मिशन की उलटी गिनती की सामान्य रूप से चल रही है
अगस्त 31, 2017 पीएसएलवी-सी 39 के दूसरे चरण( पीएस2) में नोदक भरने का कार्य पूरा हुआ
अगस्त 31, 2017 पीएसएलवी-सी 39 के दूसरे चरण( पीएस2) में नोदक भरने का कार्य जारी है
अगस्त 30, 2017 पीएसएलवी-सी 39 के चौथे चरण( पीएस4) में नोदक भरने का कार्य पूरा हुआ
अगस्त 30, 2017 पीएसएलवी-सी 39 के चौथे चरण( पीएस4) में नोदक भरने का कार्य जारी है
अगस्त 30, 2017 पीएसएलवी-सी 39/आईआरएनएसएस -1एच मिशन की 29 बजे की उलटी गिनती की कार्यवाही बुधवार 30 अगस्त, 2017 को 14: 00 पूर्वाह्न से शुरू हुई है।
अगस्त 29, 2017 मिशन तैयारी मुल्यांकन(एमआरआर) समिति और प्रमोचन प्राधिकार बोर्ड (एलएबी) ने पीएसएलवी-सी 39 / आईआरएनएसएस-1 एच उपग्रह मिशन के लिए 29 घंटे की उलटी गिनती को बुधवार, 30 अगस्त, 2017 को 14:00 बजे से शुरू किया गया,
अगस्त 23, 2017 पीएसएलवी-सी 39 / आईआरएनएसएस -1 एच मिशन का 31 अगस्त 2017 को एसडीएससी शार, श्रीहरिकोटा से 19:00 बजे प्रमोचन निर्धारित किया गया है ।
अगस्त 18, 2017 आईआरएनएसएस सिग्नल-इन-स्पेस इंटरफेस कंट्रोल दस्तावेज़ आईसीडी वर् 1.1 का विमोचन किया गया
अगस्त 03, 2017 एस्ट्रोसैट आज 10,000वीं कक्षा पूरा करेगा
जुलाई 28, 2017 यू आर राव को श्रद्धांजली
जुलाई 24, 2017 भारतीय उपग्रह कार्यक्रम के आर्किटेक्ट प्रोफेसर यू आर राव का निधन हो गया
जुलाई 03, 2017 जीसैट-17 का 03 जुलाई, 2017 को 07:40 बजे आईएसटी पर 3 अक्षीय स्थिरीकरण सफलतापूर्वक किया गया है। उपग्रह की प्रणालियां सामान्य हैं ।
जुलाई 02, 2017 16:15 बजे आईएसटी पर दोनों सौर व्यूहों और ऐंटना रिफ्लेक्टरों का प्रस्तरण सफलतापूर्वक किया गया है।
जुलाई 02, 2017 जीसैट-17 उपग्रह का तीसरा और अंतिम कक्षा उत्थान करने के लिए लैम इंजन का प्रज्वलन 02 जुलाई, 2017 को 08:51 बजे से 492 सेकंड के लिए सफलतापूर्वक किया गया है।
जुलाई 01, 2017 जीसैट-17 उपग्रह का दूसरा कक्षा उत्थान करने के लिए लैम इंजन का प्रज्वलन 01 जुलाई, 2017 को 11:03 बजे से 2859 सेकंड के लिए सफलतापूर्वक किया गया है।
जून 30, 2017 जीसैट-17 उपग्रह का पहला कक्षा उत्थान करने के लिए लैम इंजन का प्रज्वलन 30 जून, 2017 को 04:11 बजे से 5912 सेकंड के लिए सफलतापूर्वक किया गया है।
जून 29, 2017 कोरू फ्रेंच गुयाना के एरियन-5 VA-238 से जीसैट-17 का सफलतापूर्वक प्रमोचन
जून 27, 2017 एमओआरडी द्वारा जीओएमजीएनआरईजीए के लिए एनआरएससी को टीम पुरस्कार मिला
जून 24, 2017 पीएसएलवी-सी 38 / कार्टोसैट -2 श्रृंखला उपग्रह मिशन - महामहिम राष्ट्रपति जी का संदेश
जून 23, 2017 पीएसएलवी-सी38 / कार्टोसैट-2 श्रृंखला उपग्रह मिशन: प्रथम चरण पृथकरण, द्वितीय चरण प्रज्वलन
जून 23, 2017 पीएसएलवी-C38/कार्टोसैट 2 सीरीज उपग्रह मिशन: सभी 31 उपग्रहों का पृथकरण सफल।
जून 23, 2017 पीएसएलवी-C38/कार्टोसैट 2 सीरीज उपग्रह मिशन: कार्टोसैट 2 का पृथकरण । निउसैट का पृथकरण ।
जून 23, 2017 पीएसएलवी-C38/कार्टोसैट 2 सीरीज उपग्रह मिशन: चतृर्थ चरण इंजीन बंद हुआ ।
जून 23, 2017 पीएसएलवी-C38/कार्टोसैट 2 सीरीज उपग्रह मिशन: चतृर्थ चरण का निष्पादन सामान्य ।
जून 23, 2017 पीएसएलवी-C38/कार्टोसैट 2 सीरीज उपग्रह मिशन: द्वितीय चरण का पृथकरण । चतृर्थ चरण इंजीन प्रज्वलित ।
जून 23, 2017 पीएसएलवी-C38/कार्टोसैट 2 सीरीज उपग्रह मिशन: कॉस्टिंग प्रचालन सामान्य ।
जून 23, 2017 पीएसएलवी-C38/कार्टोसैट 2 सीरीज उपग्रह मिशन: तृतीय चरण का कार्य पूरा हुआ । कॉस्टिंग चरण शुरू हुआ ।
जून 23, 2017 पीएसएलवी-C38/कार्टोसैट 2 सीरीज उपग्रह मिशन: तृतीय चरण का निष्पादन सामान्य ।
जून 23, 2017 पीएसएलवी-C38/कार्टोसैट 2 सीरीज उपग्रह मिशन: द्वितीय चरण इंजीन बंद हुआ । तृतीय चरण प्रज्वलित ।
जून 23, 2017 पीएसएलवी सी-38/ कार्टोसैट 2 सीरीज उपग्रह मिशन: ताप कवच का पृथकरण ।
जून 23, 2017 पीएसएलवी-C38/कार्टोसैट 2 सीरीज उपग्रह मिशन: प्रथम चरण का पृथकरण । द्वितीय चरण निष्पादन सामान्य।
जून 23, 2017 पीएसएलवी-C38 उत्थापन सामान्य
जून 23, 2017 मिशन निदेशक ने प्रक्षेपण के लिए वाहन निदेशक को अधिकृत किया गया। वाहन निदेशक द्वारा स्वत: प्रमोचन अनुक्रम (ए एल एस) कार्यक्रम अधिकृत किया गया और ए एल एस 09:17बजे IST पर पीएसएलवी सी-38/ कार्टोसैट 2 सीरीज उपग्रह मिशन प्रक्षेपण के लिए शुरू हुआ ।
जून 23, 2017 पीएसएलवी-सी38 के दूसरे चरण (PS2) में प्रणोदक भरने का कार्य पूरा हुआ । उलटी गिनती सामान्य रूप से चल रही है।
जून 22, 2017 पीएसएलवी-सी38 के दूसरे चरण (PS2) में प्रणोदक भरने का कार्य जारी है ।
जून 22, 2017 मोबाइल सेवा टॉवर (एमएसटी) की पार्किंग स्थल के लिए वापसी पूरी हुई। दूसरे चरण (PS2) में प्रणोदक भरने का कार्य चल रहा है।
जून 22, 2017 पीएसएलवी-सी38 के चौथे चरण (PS4) में प्रणोदक भरने का कार्य पूरा हुआ ।
जून 22, 2017 पीएसएलवी-सी38 के चौथे चरण (PS4) में प्रणोदक भरने का कार्य जारी है।
जून 22, 2017 पीएसएलवी-C38/कार्टोसैट 2 श्रृंखला उपग्रह मिशन की 28 घंटे की उलटी गिनती 05:29 आईएसटी पर शुरू की गई ।
जून 21, 2017 मिशन तैयारी समीक्षा (एमआरआर) समिति और प्रमोचन प्राधिकार बोर्ड (एलएबी) ने गुरूवार, 22 जून, 2017 को पीएसएलवी-C38/कार्टोसैट 2 श्रृंखला उपग्रह मिशन की 28 घंटे की उलटी गिनती 05:29 आईएसटी पर शुरू करने की मंजूकी दी
जून 21, 2017 सीजेडटी प्रतिबिंब ने गामा-रे प्रस्फोट का पता लगाया
जून 13, 2017 जीएसएलवी एमके।।। डी1/जीसैट-19 के लिए महामहिम राष्ट्रपति जी का संदेश
जून 10, 2017 जीसैट-19 के पश्चिम और पूर्व परावर्तकों को 18:47 बजे आईएसटी पर प्रस्तरित किया गया । जीसैट-19 के त्रिअक्षीय स्थिरिकरण 19:42 बजे आईएसटी पर प्राप्त किया गया ।
जून 10, 2017 जीसैट -19 के दक्षिण और उत्तर सौर व्यूह का प्रस्तरण 16:15 बजे आईएसटी पर सफलतापूर्वक किया गया।
जून 10, 2017 जीसैट -19 उपग्रह का चौथा और अंतिम कक्षा उत्थान करने की प्रक्रिया जून 10, 2017 को 07:59 बजे आईएसटी से 488 सेकंड के लिए लैम इंजन के प्रज्वलन द्वारा सफलतापूर्वक की गई है।
जून 10, 2017 जीसैट -19 उपग्रह का तीसरा कक्षा उत्थान करने की प्रक्रिया जून 09, 2017 को 09:55 बजे आईएसटी से 3469 सेकंड के लिए लैम इंजन के प्रज्वलन द्वारा सफलतापूर्वक की गई है।
जून 08, 2017 जीसैट -19 उपग्रह का दूसरा कक्षा उत्थान करने की प्रक्रिया जून 07, 2017 को 14:03 बजे आईएसटी से 5538 सेकंड के लिए लैम इंजन के प्रज्वलन द्वारा सफलतापूर्वक की गई है।
जून 08, 2017 जीसैट -19 उपग्रह का पहला कक्षा उत्थान करने की प्रक्रिया जून 06, 2017 को 14:03 बजे पूर्वाह्न से 116 सेकंड के लिए लैम इंजन के प्रज्वलन द्वारा सफलतापूर्वक की गई है।
जून 05, 2017 जीएसएलवी एमके।।। डी1 ने सफलतापूर्वक जीसैट-19 का प्रमोचन किया
जून 05, 2017 जीएसएलवी एमके।।। डी1/जीसैट-19 मिशन: जीसैट-19 सफलतापूर्वक पृथक हुआ और कक्षा में अंतक्षेपण सफलतापूर्वक हुआ
जून 05, 2017 जीएसएलवी एमके।।। डी1/जीसैट-19 मिशन: क्रायो चरण का निष्पादन सामान्य
जून 05, 2017 जीएसएलवी एमके।।। डी1/जीसैट-19 मिशन: एल110 सफलतापूर्वक पृथक हुआ । सी25 प्रज्वलन की पुष्टि हुई।
जून 05, 2017 जीएसएलवी एमके।।। डी1/जीसैट-19 मिशन: एल110 प्रज्वलित हुआ । वाहन का निष्पादन सामान्य ।
जून 05, 2017 जीएसएलवी एमके।।। डी1/जीसैट-19 मिशन उत्थापन सामान्य
जून 05, 2017 मिशन निदेशक ने प्रक्षेपण के लिए वाहन निदेशक को अधिकृत किया गया। वाहन निदेशक द्वारा स्वत: प्रमोचन अनुक्रम (ए एल एस) कार्यक्रम अधिकृत किया गया और जीएसएलवी एमके।।। डी1/जीसैट-19 मिशन के लिए ए एल एस 17:17 बजे IST पर प्रक्षेपण के लिए शुरू हुआ ।
जून 05, 2017 जीएसएलवी एमके।।। डी1/जीसैट-19: क्रायो चरण के लिए नोदक भरने का कार्य पूरा हुआ
जून 05, 2017 जीएसएलवी एमके।।। डी1 के एस110 (दूसरे चरण) में नोदन भरने का कार्य पूरा हुआ ।
जून 04, 2017 जीएसएलवी एमके।।। डी1 के एस110 (दूसरे चरण) में नोदन भरने का कार्य प्रगति पर है । उलटी गिनती सामान्य रूप से चल रही है ।
जून 04, 2017 जीएसएलवी एमके।।। डी1/जीसैट-19 मिशन के लिए आज रविवार, जून 04, 2017 को 15:58 बजे आईएसटी पर साढ़े 25 घंटे की उलटी गिनती शुरू की गई ।
जून 02, 2017 मिशन तैयारी समीक्षा (एमआरआर) समिति और प्रमोचन प्राधिकार बोर्ड (एलएबी) ने रविवार, 04 जून, 2017 को 15:58 बजे IST पर जीएसएलवी एमके।।। डी1/जीसैट-19 मिशन के लिए साढ़े 25 घंटे की उलटी गिनती शुरू करने की मंजूरी दे दी
जून 01, 2017 जून 01, 2017 एस्ट्रोसैट सीजेडटीआई और गुरुत्वाकर्षण तरंग स्रोतों के लिए एक्स-रे समकक्षों की खोज
मई 29, 2017 जीएसएलवी एमके ।।।-डी 1/जीसैट -19 मिशन का 5 जून, 2017 को 17:28 बजे (आईएसटी) शार, श्रीहरिकोटा से प्रमोचन करने का निर्धारण किया गया है।
मई 18, 2017 इसरो ने 2014 के लिए शांति, निरस्त्रीकरण और विकास के लिए इंदिरा गांधी पुरस्कार प्राप्त किया
मई 09, 2017 जीएसएलवी एफ09 / जीसैट-9 - महामहिम राष्ट्रपति जी का संदेश (अंग्रेजी)
मई 08, 2017 पूर्व और पश्चिम रिफ्लेक्टर का प्रस्तरण 08 मई, 2017 को क्रमशः 08:15 बजे आईएसटी और 09:30 बजे आईएसटी पर सफलतापूर्वक पूरा किया गया है।
मई 08, 2017 दक्षिण एशिया सैटेलाइट के तीसरे कक्षा उत्थान प्रचालन को लैम इंजन प्रज्वलन द्वारा सफलतापूर्वक 445.8 सेकंड के लिए 06:51:52 पूर्वाह्न 08 मई, 2017 से किया गया
मई 07, 2017 दूसरे लैम प्रज्वलन से कक्षा निर्धारण परिणाम हैं: अपभू X उपभू ऊंचाई बदलकर 35858 किमी X28608 किमी हो गया। झुकाव 0.755 डिग्री है कक्षीय अवधि 20घंटे 58मिनट है ।
मई 07, 2017 दक्षिण एशिया सैटेलाइट का द्वितीय कक्षा उत्थान लैम इंजन के प्रज्वलन द्वारा 07 मई 2017 को 09.30 बजे से 3529.7 सेकेंड के लिए सफलतापूर्वक किया गया है।
मई 06, 2017 लैम इंजन द्वारा दक्षिण एशिया उपग्रह का पहला कक्षा उत्थान करने का काम सफलतापूर्वक किया गया
मई 05, 2017 भारत ने जीसैट-09 दक्षिण एशिया सैटेलाइट का सफलतापूर्वक प्रमोचन किया
मई 03, 2017 Announcement of Opportunity (AO) soliciting proposals for third AO cycle observations
अप्रैल 17, 2017 एस्ट्रोसैट पर किताब विमोचित - मुफ्त प्रति डाउनलोड करें
मार्च 07, 2017 पीएसएलवी सी-37 मिशन के संबंध में जम्मू कश्मीर राज्यपाल महोदय का संदेश
फ़रवरी 27, 2017 आग लगने की छोटी सी घटना श्रीहरिकोटा में संग्रहीत कचरे प्रणोदक में घटी
फ़रवरी 27, 2017 पीएसएलवी- सी37 / कार्टोसैट- 2 श्रुंखला के लिए - महामहिम राष्ट्रपतिजी का संदेश
फ़रवरी 26, 2017 PM @narendramodi ने @isro के बारे में #मन की बात में उल्लेख किया
फ़रवरी 18, 2017 इसरो ने उड़ान अवधि के लिए जीएसएलवी MKIII के लिए अपने क्रायोजेनिक चरण (C25) का सफलतापूर्वक परीक्षण किया
फ़रवरी 15, 2017 पीएसएलवी -C37 उत्थापन और ऑनबोर्ड कैमरा वीडियो
फ़रवरी 15, 2017 पीएसएलवी-C37/कार्टोसैट 2 सीरीज उपग्रह मिशन – तृतीय चरण का निष्पादन सामान्य
फ़रवरी 15, 2017 पीएसएलवी-C37/कार्टोसैट 2 सीरीज उपग्रह मिशन – द्वितीय चरण का पृथकरण । तृतीय चरण का प्रज्वलन ।
फ़रवरी 15, 2017 पीएसएलवी-C37/कार्टोसैट 2 सीरीज उपग्रह मिशन – ताप कवच का पृथकरण
फ़रवरी 15, 2017 पीएसएलवी-C37/कार्टोसैट 2 सीरीज उपग्रह मिशन – उत्थापन सामान्य
फ़रवरी 15, 2017 मिशन निदेशक ने प्रक्षेपण के लिए वाहन निदेशक को अधिकृत किया। वाहन निदेशक द्वारा स्वत: प्रमोचन अनुक्रम (एएलएस) कार्यक्रम अधिकृत और प्रक्षेपण के लिए एएलएस 09:16 बजे आईएसटी पर शुरू कर दिया गया
फ़रवरी 15, 2017 वास्तविक समय प्रणाली सिमुलेशन और डाटा ट्रांसमिशन जाँच पूरे किए गए। प्रमोचन वाहन का आंतरिक जाँच पूरा किया गया। उलटी गिनती सामान्य रूप से चल रही है।
फ़रवरी 15, 2017 पीएसएलवी-सी37 के दूसरे चरण (PS2) टैंक में N2O4 और UH25 भरने का कार्य पूरा हुआ। उलटी गिनती सामान्य रूप से चल रही है।
फ़रवरी 14, 2017 मोबाइल सेवा टॉवर (एमएसटी) की पार्किंग स्थल के लिए वापसी पूरी हुई। दूसरे चरण (PS2) में प्रणोदक भरने का कार्य चल रहा है।
फ़रवरी 14, 2017 चौथे चरण (PS4) में नाइट्रोजन के मिश्रित आक्साइड (एमओएन-3) ऑक्सीडाइजर भरने का काम पूरा हुआ
फ़रवरी 14, 2017 पीएसएलवी-C37 के चौथे चरण (PS4) में मोनो मिथाइल हाइड्राजिन(एमएमएच) प्रणोदक भरने का प्रचालन पूरा हो गया है
फ़रवरी 14, 2017 पीएसएलवी-C37/कार्टोसैट 2 सीरीज उपग्रह मिशन की 28 घंटे की उलटी गिनती की गतिविधि आज मंगलवार, 14 फरवरी, 2017 को 05:28 आईएसटी से शुरू हो गयी है ।
फ़रवरी 13, 2017 मिशन तैयारी समीक्षा (एमआरआर) समिति और प्रमोचन प्राधिकार बोर्ड (एलएबी) ने पीएसएलवी-C37 प्रमोचन की 28 घंटे की उलटी गिनती की मंजूरी दे दी है ।
फ़रवरी 10, 2017 पीएसएलवी सी-37 / कार्टोसैट -2 श्रृंखला उपग्रह मिशन का एसडीएससी, शार, श्रीहरिकोटा से फरवरी 15, 2017 को 9.28 बजे आईएसटी पर प्रमोचन निर्धारित किया गया ।
जनवरी 26, 2017 इसरो ने जीएसएलवी MKIII के C25 क्रायोजेनिक ऊपरी चरण का सफलतापूर्वक परीक्षण किया
दिसम्बर 15, 2016 पीएसएलवी-सी36 /रिसोर्ससैट-2ए -महामहिम राष्ट्रपति का संदेश
दिसम्बर 07, 2016 पीएसएलवी-सी36 के दूसरे चरण (PS2) टैंक में N2O4 और UH25 भरने का काज 23:20 बजे तक पूरा। उलटी गिनती सामान्य रूप से चल रहा है।
दिसम्बर 07, 2016 पीएसएलवी-सी36 / रिसोर्ससैट -2 ए: वाहन लिफ्ट-ऑफ सामान्य
दिसम्बर 07, 2016 पीएसएलवी-सी36 / रिसोर्ससैट -2 ए: वायुवाहित स्ट्रैपआन पृथकरण
दिसम्बर 07, 2016 पीएसएलवी-सी36/रिसोर्ससैट-2ए: सौर पेनलों का सफलतापूर्वक प्रस्तरण
दिसम्बर 07, 2016 पीएसएलवी-सी36 रिसोर्ससैट -2 ए का सफलतापूर्वक प्रमोचन
दिसम्बर 07, 2016 पीएसएलवी-सी36 / रिसोर्ससैट -2 ए: PS3 चरण पृथकरण, PS4 चरण प्रज्वलित
दिसम्बर 07, 2016 मिशन निदेशक ने प्रक्षेपण के लिए वाहन निदेशक को अधिकृत किया। वाहन निदेशक द्वारा स्वत: प्रमोचन अनुक्रम (ए एल एस) कार्यक्रम अधिकृत और पीएसएलवी-सी36 / रिसोर्ससैट -2 ए मिशन के प्रक्षेपण के लिए ए एल एस 10:13 IST पर शुरू कर दिया
दिसम्बर 07, 2016 वास्तविक समय सिमुलेशन चेक और डाटा ट्रांसमिशन जाँच पूरा किया। रिसोर्ससैट -2 ए अंतरिक्ष यान 'ऑन' किया। प्रमोचन वाहन की आंतरिक जाँच पूरा किया। उलटी गिनती सामान्य रूप से चल रहा है।
दिसम्बर 07, 2016 पीएसएलवी-सी36 / रिसोर्ससैट-2ए: उष्मा कवच पृथकरण, वाहन प्रदर्शन सामान्य
दिसम्बर 07, 2016 पीएसएलवी-सी36 / रिसोर्ससैट -2 ए: दूसरा चरण पृथकरण, तीसरा चरण प्रज्वलित
दिसम्बर 07, 2016 पीएसएलवी-सी36 / रिसोर्ससैट -2 ए: चौथे चरण का प्रदर्शन सामान्य
दिसम्बर 07, 2016 पीएसएलवी-सी36 / रिसोर्ससैट -2 ए: दूसरा चरण का प्रदर्शन सामान्य
दिसम्बर 07, 2016 पीएसएलवी-सी36 / रिसोर्ससैट -2 ए: प्रथम चरण पृथकरण सामान्य। द्वितीय चरण प्रज्वलित ।
दिसम्बर 06, 2016 चौथे चरण पीएसएलवी-सी36 के (PS4) में मोनो मिथाइल हाइड्राजिन (एमएमएच) ईंधन और नाइट्रोजन के मिश्रित आक्साइड (एमओएन-3) ऑक्सीडाइजर भरने का काज पूरा
दिसम्बर 06, 2016 मोबाइल सेवा टॉवर (एमएसटी) की पार्किंग स्थल के लिए वापसी पूरी हुई। दूसरे चरण (PS2) में प्रणोदक भरने का कार्य चल रहा है।
दिसम्बर 05, 2016 आज सोमवार, 05 दिसंबर, 2016 को पीएसएलवी-सी36 / रिसोर्ससैट -2 ए मिशन की उलटी गिनती 36 घंटे की गतिविधि आईएसटी 22.25 बजे शुरू
दिसम्बर 05, 2016 मिशन तैयारी की समीक्षा (एमआरआर) समिति और प्रमोचन प्राधिकार बोर्ड (एलएबी) ने सोमवार दिसंबर 05,2016 को 22:25 आईएसटी पर पीएसएलवी-सी36 / रिसोर्ससैट -2 ए मिशन के 36 घंटे के लिए उलटी गिनती मंजूरी दे दी
नवंबर 30, 2016 पीएसएलवी-सी36 / रिसोर्ससैट -2 ए का एसडीएससी शार, श्रीहरिकोटा से 10:25 बजे दिसंबर 07, 2016 को प्रमोचन निर्धारित
नवंबर 23, 2016 इसरो/अं.वि. समुदाय प्रो एमजीके मेनन के निधन पर दुखी
अक्टूबर 26, 2016 जीसैट 18 के सभी योजित स्टेशन अधिग्रहण कौशल और कक्षा-परीक्षण (IOT) गतिविधियों को सफलतापूर्वक पूरा किया गया
अक्टूबर 09, 2016 भारतीय मानक समय 19:26 बजे जीसैट -18 के सभी सफल प्रस्तरण के बाद, प्रतिक्रिया पहियों का उपयोग कर 3-अक्ष स्थिरीकरण किया गया । अंतरिक्ष यान के उप प्रणालियों का निष्पादन सामान्य है ।
अक्टूबर 09, 2016 उत्तर सौर व्यूह और पूर्वी एंटीना का सफलतापूर्वक प्रस्तरण किया गया
अक्टूबर 09, 2016 जीसैट -18 के सौर व्यूह और पश्चिम एंटीना का सफलतापूर्वक प्रस्तरण किया गया
अक्टूबर 09, 2016 तीसरे लैम प्रज्वलन से कक्षा निर्धारण परिणाम स्वरूप: अपभू X उपभू ऊंचाई 35802कि.मी, 35294कि.मी. में बदल गयी, झुकाव 0.136डिग्री है। अब कक्षीय अवधि 23घंटे 44मी. है ।
अक्टूबर 09, 2016 जीसैट -18 के तीसरे लैम का प्रज्वलन 9 अक्तूबर, 2016 को भारतीय मानक समय 10.21 को शुरू करते हुए 256.17 सेकंड के लिए सफलतापूर्वक पूरा किया गया ।
अक्टूबर 08, 2016 जीसैट -18 की दूसरी कक्षा उत्थान के लिए अक्टूबर 08, 2016 को भारतीय मानक समय 11:29 पर कुछ सेंकड के लिए सफलतापूर्वक लैम इंजन प्रज्वलन किया गया ।
अक्टूबर 07, 2016 जीसैट -18 की अक्तू., 07, 2016 को प्रथम कक्षा उत्थान के लिए भारतीय मानक समय 03:46 पर 6040.6 सेकंड के लिए लैम इंजन प्रज्वलन किया गया।
अक्टूबर 06, 2016 जीसैट -18 का फ्रेंच गयाना,कोरू से एरियन -5 VA-231 द्वारा सफलतापूर्वक प्रमोचन किया गया
अक्टूबर 05, 2016 जीसैट -18 का प्रक्षेपण अक्तू, 06, 2016 एक दिन के लिए स्थगित किया गया
सितंबर 29, 2016 एस्ट्रोसैट का कक्षा में एक वर्ष पूरा करने के उपलक्ष्य में विज्ञान सम्मेलन
सितंबर 29, 2016 जीसैट -18 का एरियन -5 VA-231 द्वारा फ्रेंच गयाना, कोरू से 2:00 बजे से 3:15 बजे (आईएसटी) के बीच अक्टूबर 05, 2016 को प्रमोचन किया जाना निर्धारित है ।
सितंबर 29, 2016 इसरो को प्रियदर्शिनी ग्लोबल अवार्ड 2016 मिला
सितंबर 26, 2016 पीएसएलवी-C35 ने अपने संबंधित कक्षाओं में सभी उपग्रहों को सफलतापूर्वक रखा।
सितंबर 26, 2016 पाथफाइंडर-1 उपग्रह पृथकरण
सितंबर 26, 2016 अलसैट -2बी उपग्रह पृथकरण
सितंबर 26, 2016 अलसैट -1बी उपग्रह पृथकरण
सितंबर 26, 2016 प्रथम और पीसैट उपग्रहों का पृथकरण
सितंबर 26, 2016 एनएलएस -19 उपग्रह पृथकरण
सितंबर 26, 2016 अलसैट -1एन उपग्रह पृथकरण
सितंबर 26, 2016 पीएसएलवी-C35 से स्कैटसैट -1 की सफलतापूर्वक प्रमोचन। शेष 7 उपग्रहों की पृथकरण आईएसटी 11.25 और 11.28 के बीच होने की उम्मीद
सितंबर 26, 2016 PS4 चौथे चरण का इंजन बंद किया
सितंबर 26, 2016 PS4 चौथे चरण का प्रदर्शन सामान्य
सितंबर 26, 2016 PS4 चौथे चरण का इंजन प्रज्वलित
सितंबर 26, 2016 PS3 के तीसरे चरण का पृथकरण
सितंबर 26, 2016 PS3 तीसरा चरण का प्रदर्शन सामान्य
सितंबर 26, 2016 हीट शील्ड का पृथकरण
सितंबर 26, 2016 पीएसएलवी-C35 PS1 चरण का पृथकरण और पीएस 2 दूसरा चरण प्रज्वलित
सितंबर 26, 2016 लिफ्ट-ऑफ सामान्य
सितंबर 26, 2016 मिशन निदेशक ने प्रक्षेपण के लिए वाहन निदेशक को अधिकृत किया। वाहन निदेशक द्वारा स्वत: प्रमोचन अनुक्रम (ए एल एस) कार्यक्रम अधिकृत और एएलएल आईएसटी 09:00 प्रक्षेपण के लिए शुरू कर दिया
सितंबर 26, 2016 UH25 दूसरे चरण (PS2) के टैंक भरने का कार्य पूरा किया गया। वास्तविक समय प्रणाली के अनुकरण के जांच और प्रक्षेपण यान आंतरिक जांचों को पूरा कर लिया। उलटी गिनती सामान्य चल रही है
सितंबर 26, 2016 पीएस 2 चरण का पृथकरण, PS3 तीसरा चरण प्रज्वलित
सितंबर 25, 2016 दूसरे चरण (PS2) टैंक में N2O4 भरने का कार्य प्रगति पर है
सितंबर 25, 2016 मोबाइल सेवा टॉवर (एमएसटी) का पार्किंग स्थल के लिए वापसी पूरा हुआ। दूसरे चरण (PS2) में प्रणोदक भरना प्रगति पर है
सितंबर 25, 2016 पीएसएलवी-C35 / स्कैटसैट -1 मिशन के लिए उलटी गिनती सामान्य रूप से चल रही है
सितंबर 25, 2016 दूसरे चरण (PS2) टैंक में N2O4 भरने का पूरा हो गया है। दूसरे चरण (PS2) टैंक में UH25 भरने का कार्य प्रगति पर है
सितंबर 25, 2016 वास्तविक समय प्रणाली के अनुकरण के जांच कार्य प्रगति पर है
सितंबर 24, 2016 PS4 में एमओएन-3 ऑक्सीडाइजर भरने का कार्य 18:00 बजे पूरा होगा
सितंबर 24, 2016 PS4 में नाइट्रोजन मिश्रित आक्साइड (एमओएन-3) ऑक्सीडाइजर भरने का कार्य प्रगति पर है
सितंबर 24, 2016 MMH प्रणोदक भरने का कार्य आईएसटी 00:30 बजे तक पूरा कर लिया गया। नाइट्रोजन मिश्रित आक्साइड (एमओएन-3) ऑक्सीडाइजर भरने का कार्य प्रगति पर है।
सितंबर 24, 2016 पीएसएलवी-C35 के चौथे चरण (PS4) में प्रणोदक मोनो मिथाइल हाइड्राजिन (यूके)भरने का कार्य प्रगति पर है
सितंबर 24, 2016 पीएसएलवी-C35 / SCATSAT -1 मिशन के लिए आईएसटी 08:42 पर आज, शनिवार, 24 सितंबर, 2016 को 48 घंटो की उलटी गिनती गतिविधि शुरू कर दिया गया है
सितंबर 23, 2016 मिशन तैयारी समीक्षा (एमआरआर) समिति और प्रमोचन प्राधिकार बोर्ड (एलएबी) ने पीएसएलवी-35 / SCATSAT -1 मिशन के लिए 48 और आधा घंटो की उलटी गिनती को मंजूरी दे दी है
सितंबर 21, 2016 पीएसएलवी-C35 की एसडीएससी शार, श्रीहरिकोटा से 26 सितंबर, 2016 पर 9:12 बजे (आईएसटी) पर सोमवार की सुबह प्रमोचन किया जाना निर्धारित है
सितंबर 19, 2016 जीएसएलवी-एफ05 / इन्सैट-3डीआर - महामहिम राष्ट्रपति जी का संदेश
सितंबर 17, 2016 09:00 बजे आईएसटी पर इन्सैट-3DR प्रतिबिंबक से आज पहली आईआर छवियाँ ली गईं
सितंबर 11, 2016 कक्षा में तीसरे लैम प्रज्वलन के निर्धारण परिणाम हैं: अपभू X उपभू ऊंचाई 35908कि.मी., 35326कि.मी. में बदल गया था, झुकाव 0.121डिग्री है। कक्षीय अवधि 23घं. 47मी. 26से. है।
सितंबर 11, 2016 इन्सैट 3DR का तीसरे लैम का प्रज्वलन 11 सितंबर, 2016 को आईएसटी 08:31पर 294 सेकंड के लिए सफलतापूर्वक पूरा किया गया ।
सितंबर 10, 2016 इन्सैट 3DR का दूसरे लैम का प्रज्वलन, 3174 से. के लिए अपभू पर सफलतापूर्वक पूरा किया गया
सितंबर 09, 2016 इन्सैट 3DR के पहले अपभू उत्थान कौशल सफलतापूर्वक किया गया है।
सितंबर 08, 2016 जीएसएलवी-F05 ने इन्सैट 3DR का सफलतापूर्वक प्रमोचन किया
सितंबर 08, 2016 जीएसएलवी-F05 / इन्सैट 3DR मिशन: कक्षा में इन्सैट 3DR का प्रक्षेपण
सितंबर 08, 2016 जीएसएलवी-F05 / इन्सैट 3DR मिशन: जीएस 1 चरण का पृथकरण। GS2 प्रज्वलित
सितंबर 08, 2016 क्रायो चरण प्रजव्लन अधिकृत
सितंबर 08, 2016 जीएसएलवी-F05 / इन्सैट 3DR मिशन: क्रायोजेनिक प्रज्वलन की पुष्टि
सितंबर 08, 2016 जीएसएलवी-F05 / इन्सैट 3DR मिशन: GS2 प्रदर्शन सामान्य
सितंबर 08, 2016 जीएसएलवी-F05 / इन्सैट 3DR मिशन: हीट शील्ड अलग हो गया
सितंबर 08, 2016 जीएसएलवी-F05 / इन्सैट 3DR मिशन: लिफ्ट-ऑफ सामान्य
सितंबर 08, 2016 जीएसएलवी-F05 मिशन निदेशक से प्रमोचन अधिकृत
सितंबर 08, 2016 प्रमोचन समय में परिवर्तन आईएसटी 16:50 उलटी गिनती सामान्य रूप से चल रही है
सितंबर 08, 2016 आईएसटी 08:15 पर वास्तविक समय प्रणाली अनुकरण जांच पूरा किया गया। उलटी गिनती सामान्य रूप से चल रही है
सितंबर 08, 2016 चार L40 चरणों में N2O4 में भरने के कार्य आईएसटी 03:00 तक पूरा
सितंबर 07, 2016 चार L40 चरणों में UH25 भरने का कार्य 21:00 बजे तक पूरा
सितंबर 07, 2016 दूसरे चरण (GS2)में UH25 भरने का कार्य 17:40 आईएसटी तक पूरा
सितंबर 07, 2016 दूसरे चरण (GS2) में UH25 भरने के तहत प्रगति
सितंबर 07, 2016 दूसरे चरण (GS2) में N2O4 भरने का कार्य 13:30 आईएसटी तक पूरा किया। दूसरे चरण (GS2) में UH25 भरने का कार्य प्रगति पर है
सितंबर 07, 2016 द्वितीय चरण (GS2) में N2O4 भरने के तहत प्रगति
सितंबर 07, 2016 दूसरे चरण(GS2) में प्रणोदक भरने का कार्य प्रगति पर है
सितंबर 07, 2016 जीएसएलवी-F05 / इन्सैट 3DR मिशन का बुधवार, 7 सितंबर, 2016 को 11:10 आईएसटी पर 29 घंटे के लिए उलटी गिनती का कार्य शुरू कर दिया गया
सितंबर 05, 2016 मिशन तैयारी समीक्षा (एमआरआर) समिति और प्रक्षेपण प्राधिकरण बोर्ड (एलएबी) ने 29 घंटो के लिए उलटी गिनती बुधवार, 7 सितंबर, 2016 को आईएसटी 11.10बजे से और गुरुवार 8 सितंबर, 2016 16.10 बजे जीएसएलवी-F05 / इन्सैट 3DR मिशन के प्रमोचन की मंजूरी दे दी है
सितंबर 01, 2016 एसडीएससी, शार, श्रीहरिकोटा से 16:10 बजे (आईएसटी) पर सितम्बर 08, 2016 को जीएसएलवी-F05 / इन्सैट 3DR मिशन निर्धारित
सितंबर 01, 2016 महामहिम राष्ट्रपति ने भावी रॉकेट परीक्षण के सफल आयोजन के लिए इसरो के बधाई दी - उन्नत प्रौद्योगिकी वाहन (एटीवी)
अगस्त 31, 2016 एस्ट्रोडसैट ने ब्लैककहोल प्रणाली की उच्चं ऊर्जा एक्स.–किरण परिवर्तनीयता का प्रेक्षण किया
अगस्त 29, 2016 ठीक 25 साल पहले प्रमोचित आईआरएस -1 बी की याद
जून 22, 2016 भारत के राष्ट्रजपति की पी.एस.एल.वी.-सी34 के सफल प्रमोचन पर इसरो को बधाई
जून 22, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी.34/कार्टोसैट-2 श्रृंखला का उपग्रह अलग होकर कक्षा में अंत:क्षेपित
जून 22, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी.34/कार्टोसैट-2 श्रृंखला पी.एस.4 इंजन बंद। अंत:क्षेपण की स्थिति प्राप्ति
जून 22, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी.34/कार्टोसैट-2 श्रृंखला पी.एस.3 अलग हुआ। पी.एस.4 इंजन चालू
जून 22, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी.34/कार्टोसैट-2 श्रृंखला पी.एस.2 अलग हुआ। तृतीय चरण का निष्पाषदन सामान्य
जून 22, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी.34/कार्टोसैट-2 श्रृंखला प्रमोचन ताप कवच अलग हुआ। द्वितीय चरण का निस्पा दन सामान्य
जून 22, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी.34/कार्टोसैट-2 श्रृंखला का उत्थापन सामान्य
जून 22, 2016 पी.एस.एल.वी. मिशन निदेशक ने राकेट निदेशक को प्रमोचन के लिए आदेश दिया। राकेट निदेशक द्वारा स्वसचालित प्रमोचन क्रम (ए.एल.एस.) के कार्यक्रम को प्रारंभ करने का आदेश और प्रमोचन के लिए भारतीय मानक समय 09:12 बजे ए.एल.एस. प्रारंभ
जून 22, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी34 के द्वितीय चरण (पी.एस.2) में नोदन भरण कार्य संपन्नर। राकेट की आंतरिक जाँच की जा रही है। उल्टी गिनती सामान्य रूप से जारी।
जून 21, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी34 के द्वितीय चरण (पी.एस.2) में नोदन भरण कार्य जारी है।
जून 21, 2016 अंतरिक्षयान की स्वारस्य्or जांच और पी.एस.एल.वी.-सी34 के द्वितीय चरण (पी.एस.2) में नोदन भरण कार्य की तैयारी जारी है। उल्टी गिनती सामान्य रूप से जारी।
जून 20, 2016 पी.एस.4 का नाइट्रोजन के मिश्रित ऑक्साइड (एम.ओ.एन.-3) भरण पूर्ण
जून 20, 2016 पी.एस.4 का नाइट्रोजन के मिश्रित ऑक्साइड (एम.ओ.एन.-3) भरण जारी है
जून 20, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी34 के चौथे चरण (पी.एस.4) का मोनोमिथाइल हाइड्राजाइन (एम.एम.एच.) भरण प्रचालन 12.06 बजे (भा.मा.स.) पूर्ण कर लिया गया। पी.एस.4 के नाइट्रोजन के मिश्रित ऑक्सारइड (एम.ओ.एन.-3) भरण की तैयारी जारी है
जून 20, 2016 आज, सोमवार, 20 जून, 2016 को 09.26 बजे भा.मा.स. पर पी.एस.एल.वी.-सी34/कार्टोसैट-2 श्रेणी उपग्रह मिशन की 48 घंटों की उल्टी गि‍नती प्रक्रिया शुरू हुई
जून 19, 2016 सोमवार 20 जून, 2016 को 09:26 बजे आईएसटी, मिशन तैयारी समीक्षा (एमआरआर) समिति और लॉन्च प्राधिकार बोर्ड (एलएबी) ने 48 घंटे की उलटी गिनती शुरू करने और बुधवार, जून 22, 2016 को पीएसएलवी-C34 / कार्टोसैट 2 श्रृखला के प्रमोचन की मंजूरी दे दी
जून 16, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी34/कार्टोसैट 2 श्रंखला उपग्रह मिशन: प्रमोचन 22 जून, 2016 को एस.डी.एस.सी. शार श्री‍हरिकोटा से होना निर्धारित है
जून 15, 2016 इसरो उत्कृणष्ठम संगठन के लिए एन.आई.क्यू..आर.-जी.के.डी. पुरस्कामर से सम्मा नित
जून 07, 2016 28 जून - 15 जुलाई 2016 के दौरान "जियोवब सेवाओं और जियोपोर्टल अनुप्रयोगों" पर आयोजित किया जाने वाला 17 वां आईआईआरएस आउटरीच कार्यक्रम
मई 20, 2016 आईयूसीएए, पुणे में एस्ट्रोसैट सहायता सेल (एएससी) स्थापित किया गया है
मई 03, 2016 चौथे एल.ए.एम. ज्वालन से प्राप्त कक्षा निर्धारण परिणाम है: अपभू Xउपभू ऊंचाई 35811 कि.मी., 35211 कि.मी. में परिवर्तित हुई, आनति 5.1 डिग्री है। अब कक्षीय अवधि 23 घंटा 42 मिनट 04 सेकेंड है।
मई 03, 2016 भारत एवं फ्रांस ने संयुक्तम रूप से दोनों देशों के बीच अंतरिक्ष में सहयोग के 50 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्यन में दो डाक टिकटों के सेट को जारी किया
मई 03, 2016 आई.आर.एन.एस.एस.-1जी का 231 सेकेंड के लिए चौथा और अंतिम एल.ए.एम. ज्वालन जिसे 03.05.2016 को 01:27 बजे भा.मा.स. पर शुरू किया गया सफलतापूर्वक पूर्ण
मई 02, 2016 तीसरे एल.ए.एम. ज्वालन से प्राप्त कक्षा निर्धारण परिणाम है: अपभू Xउपभू ऊंचाई 35813 कि.मी., 29050 कि.मी. में परिवर्तित हुई, आनति 5.72 डिग्री है। अब कक्षीय अवधि 21 घंटा 08 मिनट 09 सेकेंड है।
मई 01, 2016 आई.आर.एन.एस.एस.-1जी का 1609 सेकेंड के लिए तृतीय एल.ए.एम. ज्वालन जिसे 01.05.2016 को 06:59:07 बजे भा.मा.स. पर शुरू किया गया सफलतापूर्वक पूर्ण
मई 01, 2016 द्वितीय एल.ए.एम. ज्वालन से प्राप्तl कक्षा निर्धारण परिणाम है: अपभू Xउपभू ऊंचाई 35803 कि.मी., 7750 कि.मी. में परिवर्तित हुई, आनति 10.77 डिग्री है। अब कक्षीय अवधि 13 घंटा 03 मिनट 35 सेकेंड है।
अप्रैल 30, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी33 / आई.आर.एन.एस.एस.-1जी अद्यतन: आई.आर.एन.एस.एस.-1जी का अपभू पर 1581 सेकेंड के लिए द्वितीय एल.ए.एम. ज्वालन जिसे 30 अप्रैल, 2016 को 04:52:17 बजे भा.मा.स. पर शुरू किया गया सफलतापूर्वक पूर्ण
अप्रैल 30, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी33 / आई.आर.एन.एस.एस.-1जी अद्यतन: 29 अप्रैल, 2016 को 13:05 बजे भा.मा.स. से आई.आर.एन.एस.एस.-1जी का प्रथम अपभू युक्तिचालन 1147 सेकेंड के लिए सफलतापूर्वक किया गया गया
अप्रैल 28, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी33 / आई.आर.एन.एस.एस.-1जी अद्यतन: उत्थापन सामान्य
अप्रैल 28, 2016 मिशन निदेशक ने राकेट निदेशक को प्रमोचन के लिए प्राधिकृत किया। स्वत: प्रमोचन अनुक्रम (ए.एल.एस.) कार्यक्रम प्राधिकृत राकेट निदेशक द्वारा शुरू किया गया और 12:38 बजे भा.मा.स. पर प्रमोचन के लिए ए.एल.एस. शुरू हुआ।
अप्रैल 28, 2016 वास्तविक समय अनुकरण और आंकड़ा प्रसारण जांच पूर्ण। राकेट की आंतरिक जांच पूर्ण।
अप्रैल 28, 2016 मध्यिरात्रि तक द्वितीय चरण (पी.एस.2) का नोदक (एन.2ओ.4 एवं यू.एच.25) भराव प्रचालन पूर्ण कर लिया गया। विलोमगणना सामान्य रूप से जारी है।
अप्रैल 27, 2016 पार्किंग स्थान से मोबाइल सेवा टावर (एम.एस.टी.) का आहरण पूर्ण।
अप्रैल 27, 2016 विलोमगणना प्रचालन सामान्य रूप से जारी है। पार्किंग स्थान से मोबाइल सेवा टावर (एम.एस.टी.) के आहरण और द्वितीय चरण (पी.एस.2) के नोदन भराव प्रचालन की तैयारी जारी है।
अप्रैल 26, 2016 पी.एस.4 के लिए नाइट्रोजन के मिश्र ऑक्साइड (एम.ओ.एन.-3) ऑक्सीडाइजर का भराव प्रचालन पूर्ण। विलोमगणना सामान्य रूप से जारी है।
अप्रैल 26, 2016 एम.एम.एच. नोदन भराव प्रचालन पूर्ण कर लिया गया। पी.एस.4 के लिए नाइट्रोजन के मिश्र ऑक्साइड (एम.ओ.एन.-3) ऑक्सीडाइजर के भराव प्रचालन की तैयारी जारी है।
अप्रैल 26, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी33 के चौथे चरण (पी.एस.4) का मोनो मिथाइल हाइड्राजिन (एम.एम.एच.) नोदन भराव प्रचालन शुरू किया गया जो जारी है
अप्रैल 26, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी33 / आई.आर.एन.एस.एस.-1जी मिशन का 51 घंटे 30 मिनट का विलोमगणना कार्य आज, मंगलवार, 26 अप्रैल, 2016 को 9:20 बजे भा.मा.स. पर शुरू किया गया है।
अप्रैल 25, 2016 मंगलवार 26 अप्रैल, 2016 को 09:20 बजे आईएसटी, मिशन तैयारी समीक्षा (एमआरआर) समिति और लॉन्च प्राधिकार बोर्ड (एलएबी) ने 51.5 घंटे की उलटी गिनती शुरू करने और गुरुवार, अप्रैल 28, 2016 को 12:50बजे ISTपर पीएसएलवी-C33 / आईआरएनएसएस-1G के प्रमोचन की मंजूरी दे दी
अप्रैल 12, 2016 नई दिल्ली में आयोजित एशिया प्रशांत सुदूर संवेदन संगोष्ठी
मार्च 30, 2016 आईआरएनएसएस-1F अद्यतन: चार स्टेशन अधिग्रहण कौशल के द्वारा और कक्षा में सफल अंतरिक्ष यान परीक्षण (IOT) के बाद, आईआरएनएसएस-1F को निर्धारित भू-समकालिक कक्षा में रखा गया
मार्च 16, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी 32- राष्ट्रपति का संदेश
मार्च 15, 2016 आईआरएनएसएस-1F अद्यतन: चौथे लैम प्रज्वलन से कक्षा का निर्धारण
मार्च 14, 2016 आई.आर.एन.एस.एस.-1एफ अद्यतन जानकारी: आई.आर.एन.एस.एस.-1एफ का चौथा एल.ए.एम. ज्वuलन 11:42:44 बजे (भा.मा.स.) 78.8 सेकेंड के लिए शुरू हुआ और 14.3.2016 को सफलतापूर्वक पूर्ण कर लिया गया।
मार्च 14, 2016 आईआरएनएसएस-1F अद्यतन: तीसरे लैम प्रज्वलन से कक्षा का निर्धारण
मार्च 13, 2016 आईआरएनएसएस-1F अद्यतन: आईआरएनएसएस-1F की तीसरे लैम प्रज्वलन, 1561 सेकंड के लिए 2016/03/13 को 11:32 बजे आईएसटी पर सफलतापूर्वक पूरा किया गया
मार्च 13, 2016 आईआरएनएसएस-1F अद्यतन: दूसरे लैम प्रज्वलन से कक्षा निर्धारण के परिणाम
मार्च 12, 2016 आईआरएनएसएस-1F के दूसरे लैम का प्रज्वलन, अपभू पर 1918.5 सेकंड के लिए 2016/03/12 को 07:57:54 बजे आईएसटी पर सफलतापूर्वक पूरा किया गया।
मार्च 12, 2016 आईआरएनएसएस 1एफ अपभू कक्षा उत्थान कौशल सफलतापूर्वक किया गया
मार्च 10, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी32/आई.आर.एन.एस.एस.-1एफ: पी.एस.एल.वी.-सी32 ने आई.आर.एन.एस.एस.-1एफ को सफलतापूर्वक कक्षा में स्थापित किया
मार्च 10, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी32/आई.आर.एन.एस.एस.-1एफ: उत्थापन सामान्य
मार्च 10, 2016 पीएसएलवी सा-32/आईआरएनएसएस 1एफ: मिशन निदेशक ने प्रक्षेपण के लिए वाहन निदेशक को अधिकृत किया गया। वाहन निदेशक द्वारा स्वत: प्रमोचन अनुक्रम (ए एल एस) कार्यक्रम अधिकृत किया गया और ए एल एस 15:48बजे IST पर प्रक्षेपण के लिए शुरू हुआ
मार्च 10, 2016 पीएसएलवी सा-32/आईआरएनएसएस 1एफ अद्यतन: प्रमोचन समय को अंतरिक्ष मलबा अध्ययन के अनुसार टक्कर परिहार के लिए 16.01 बजे आईएसटी के लिए बदला गया। उल्टी गिनती सामान्य रूप से चल रही है ।
मार्च 10, 2016 पीएसएलवी सा-32/आईआरएनएसएस 1एफ अद्यतन अंतरिक्ष यान चालू किया गया । वाहन के आंतरिक जांच पूरी की गई । उल्टी गिनती की स्थिति सामान्य
मार्च 10, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी32/आई.आर.एन.एस.एस.-1एफ अद्यतन जानकारी: वास्तविक समय अनुकरण जांच और आंकड़ा प्रसारण जांच पूर्ण
मार्च 10, 2016 पीएसएलवी सा-32/आईआरएनएसएस 1एफ अद्यतन द्वितीय चरण (पी.एस.2) के यूएच25 टैंक भरण 3.00 बजे आईएसटी पर पूरा किया गया । उल्टी गिनती की गतिविधि सामान्य रूप से चल रही है
मार्च 10, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी32/आई.आर.एन.एस.एस.-1एफ अद्यतन जानकारी: द्वितीय चरण (पी.एस.2) के लिए एन.2ओ4 टैंक भरण 10 मार्च, 2016 को 00:15 बजे (भा.मा.स.) तक पूर्ण कर लिया गया
मार्च 09, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी32/आई.आर.एन.एस.एस.-1एफ अद्यतन जानकारी: द्वितीय चरण (पी.एस.2) के एन.2ओ.4 टैंक भरण की तैयारी जारी है। पी.एस.एल.वी.-सी32 मिशन – उल्टीे गिनती सामान्य रूप से जारी है।
मार्च 08, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी32/आई.आर.एन.एस.एस.-1एफ अद्यतन जानकारी: पी.एस.4 का नाइट्रोजन के मिश्रित ऑक्सााइड (एम.ओ.एन.-3) ऑक्सीीडाइजर भरण प्रचालन पूर्ण। उल्टी गिनती सामान्य रूप से जारी है
मार्च 08, 2016 पी.एस.एल.वी.-सी32/आई.आर.एन.एस.एस.-1एफ अद्यतन जानकारी: पी.एस.4 के लिए नाइट्रोजन के मिश्रित आक्सााइड (एम.ओ.एन.-3) आक्सिडाइजर भरण प्रचालन 19:00 बजे (भा.मा.स.) शुरू हुआ
मार्च 08, 2016 पीएसएलवी-सी 31/आईआरएनएसएस-1 एफ अद्यतन: मिशन तैयारी समीक्षा (एमआरआर) समिति और प्रमोचन प्राधिकार बोर्ड (एलएबी) ने मंगलवार, 08 मार्च, 2016 को साढ़े 54 घंटे की 09:30 बजे आईएसटी पर उलटी गीनती और गुरूवार 10 मार्च, 2016 को प्रमोचन करने की मंजूरी दे दी है।
मार्च 08, 2016 एम.एम.एच. नोदक भरण प्रचालन पूर्ण कर लिया गया। पी.एस.4 हेतु नाइट्रोजन के मिश्रित ऑक्साइड (एम.ओ.एन.-3) ऑक्सीडाइजर भरण प्रचालन जारी है
मार्च 08, 2016 चतुर्थ चरण (पी.एस.4) का मोनो मिथाइल हाइड्राजिन (एम.एम.एच.) नोदक भरण प्रचालन 12:30 (भा.मा.स.) बजे शुरू किया गया और अभी जारी है
मार्च 08, 2016 पीएसएलवी-सी 32 / आईआरएनएसएस-1एफ मिशन की 54 घंटे व 30 मिनट की उलटी गिनती की गतिविधि मंगलवार, मार्च 8,2016 को 09.30बजे आईएसटी पर शुरू की गई ।
मार्च 02, 2016 पीएसएलवी- सी32/आईआरएनएसएस-1एफ प्रमोचन के लिए मेडिया पंजीकरण
फ़रवरी 28, 2016 मंगल के वैश्विक श्वेमतिमा मानचित्र
फ़रवरी 22, 2016 जीएसएलवी एमके III के सीई 20 इंजन का सफलतापूर्वक ताप परीक्षण
फ़रवरी 01, 2016 पीएसएलवी-सी31-महामहिम राष्ट्रपति जी का संदेश
जनवरी 24, 2016 आईआरएनएसएस-1E अद्यतन: चौथे और अंतिम कक्षा उत्थान 447 सेकंड (~ 7.45 मिनट) के लिए 22:49बजे IST पर 23 जन, 2016 को सफलतापूर्वक किया गया।
जनवरी 23, 2016 आईआरएनएसएस-1E अद्यतन: तीसरे कक्षा उत्थान के लिए 23 जन, 2016 को 03:19 बजे IST पर 1507 सेकंड (~ 25 मिनट) के लिए लैम इंजन प्रज्वलन सफलतापूर्वक किया गया।
जनवरी 23, 2016 आईआरएनएसएस-1E अद्यतन: उपभू उत्थान कौशल 1,515.36 सेकंड (~ 25.5 मिनट) के लिए 01:29 बजे आईएसटी से जनवरी 22, 2016 को सफलतापूर्वक किया गया है।
जनवरी 21, 2016 आईआरएनएसएस-1E अद्यतन: आईआरएनएसएस-1E की कक्षा उत्थान के लिए 21 जनवरी 2016 को 09:41बजे IST पर 1197 से सेकंड (~ 20 मिनट) के लिए सफलतापूर्वक लैम प्रज्वलन किया गया है । इस प्रज्वलन से कक्षा अपभू Xउपभू ऊंचाई 35882किमीX320 किमी के लिए परिवर्तित होने की संभावना ह
जनवरी 20, 2016 पीएसएलवी-C31 / आईआरएनएसएस-1E प्रमोचन अद्यतन: पीएसएलवी-C31 से आईआरएनएसएस-1E का कक्षा में सफलतापूर्वक प्रमोचन किया।
जनवरी 20, 2016 पीएसएलवी-C31 / आईआरएनएसएस-1E प्रमोचन अद्यतन: उत्थापन सामान्य
जनवरी 20, 2016 पीएसएलवी-C31 / आईआरएनएसएस-1E प्रमोचन अद्यतन: :मिशन निदेशक ने प्रक्षेपण के लिए वाहन निदेशक को अधिकृत किया गया। वाहन निदेशक द्वारा स्वत: प्रमोचन अनुक्रम (ए एल एस) कार्यक्रम अधिकृत किया गया और ए एल एस 09:19बजे IST पर प्रक्षेपण के लिए शुरू हुआ
जनवरी 20, 2016 पीएसएलवी-C31 / आईआरएनएसएस-1E प्रमोचन अद्यतन: : उलटी गीनती सामान्य रूप से चल रही है । प्रमोचन के लिए 20 मीनट शेष ।
जनवरी 19, 2016 पीएसएलवी-C31/आईआरएनएसएस-1E अद्यतन: दूसरे चरण (PS2) के टैंक में यूएच-25 भरने का कार्य 22:00बजे (आईएसटी) पूरा हो गया
जनवरी 19, 2016 पीएसएलवी-C31 / आईआरएनएसएस-1E अद्यतन: दूसरे चरण (पीएस 2) के टैंक में N2O4 भरने का काज 18:45बजे IST तक पूरा किया गया
जनवरी 19, 2016 पीएसएलवी-C31 ने आईआरएनएसएस -1 ई अध्यतनः दूसरे चरण (PS2) टैंक में नाइट्रोजन ट्रेट्रोऑक्साइड (N2O4) प्रणोदक भरने का कार्य जारी है
जनवरी 18, 2016 पीएसएलवी-सी 31 / आईआरएनएसएस-1 ई अद्यतन: एमएमएच नोदक भरने का कार्य 13:00 बजे पूरा हो गया है। नाइट्रोजन के मिश्रित ऑक्साइड (मोन -3) ऑक्सीडायजर को पीएस 4 भरने की तैयारी प्रगति पर है।
जनवरी 18, 2016 पीएसएलवी सी31 के चतुर्थ चरण पीएस4 में मोनो मिथाइल हाइट्राजिन(एमएमएच) नोदक भरने का कार्य जारी है
जनवरी 18, 2016 पीएसएलवी-C31 / आईआरएनएसएस-1E अद्यतन: PS4 में नाइट्रोजन मिश्रित आक्साइड (एमओएन-3) ऑक्सीडाइजर भरने का कार्य 18:15 IST तक पूरा हुआ। उलटी गिनती सामान्य रूप से चल रही है
जनवरी 18, 2016 पीएसएलवी-C31/आईआरएनएसएस-1E मिशन की उलटी गिनती 48घंटे की गतिविधि 09: 31बजे IST पर आज, सोमवार, 18 जनवरी, 2016 को शुरू कर दिया गया
जनवरी 17, 2016 पीएसएलवी-C31/आईआरएनएसएस-1E अद्यतन: मिशन तैयारी समीक्षा (एमआरआर) समिति और प्रमोचन प्राधिकार बोर्ड (एलएबी) ने सोमवार, 18 जनवरी, 2016 को 09:31 बजे IST पर 48 घंटे की उलटी गिनती शुरू करने की मंजूरी दे दी
जनवरी 13, 2016 पीएसएलवी- सी31/आईआरएनएसएस-1ई प्रमोचन के लिए मेडिया पंजीकरण
जनवरी 05, 2016 निदेशक पीआरएल पद के लिए रीक्ति अधिसूचना, विज्ञापन,एवं आवेदन प्रारूप
जनवरी 04, 2016 जीसैट-15 उपग्रह प्रचलनात्मक हुआ। उपग्रह का स्वास्थ्य सामान्य है ।
जनवरी 02, 2016 सैक में 200 केडब्ल्यूपी के सौर ऊर्जा सयंत्र की स्थापना
दिसम्बर 31, 2015 पीएसएलवी-सी29 - महामहिम राष्ट्रपति जी कीा संदेश (अंग्रेजी)
दिसम्बर 30, 2015 पीआरएल-निदेशक पीआरएल के पद के लिए भर्ती नियम
दिसम्बर 16, 2015 पीएसएलवी ने सींगापुर के 6 उपग्रहों का सफलतापूर्वक प्रमोचन किया
दिसम्बर 16, 2015 पीएसएलवी-C29 / टेलीओस -1 प्रमोचन अद्यतन: लिफ्ट ऑफ सामान्य
दिसम्बर 16, 2015 पीएसएलवी-C29 / टेलीओस -1 प्रमोचन अद्यतन: मिशन निदेशक ने प्रक्षेपण के लिए वाहन निदेशक को अधिकृत किया गया। वाहन निदेशक द्वारा स्वत: प्रमोचन अनुक्रम (ए एल एस) कार्यक्रम अधिकृत किया गया और ए एल एस 17:48बजे IST पर प्रक्षेपण के लिए शुरू हुआ
दिसम्बर 16, 2015 पीएसएलवी-C29 / टेलीओस -1 प्रमोचन अद्यतन: मोबाइल सेवा टॉवर (एमएसटी) का पार्किंग स्थल वापसी के साथ कार्य पूरा हुआ। दूसरे चरण (PS2)में प्रणोदक (N2O4 और UH25) के भरने का कार्य चल रहा है। उलटी गिनती सामान्य रूप से चल रही है।
दिसम्बर 15, 2015 पीएसएलवी-C29 / टेलीओस -1 प्रमोचन अद्यतन: उलटी गिनती सामान्य रूप से चल रही है। डीडी नेशनल और वेबकास्ट पर सीधा प्रसारण 17:30बजे IST, 16 दिसम्बर, 2015 को उपलब्ध है
दिसम्बर 14, 2015 पीएसएलवी-C29 / टेलीओस -1 प्रमोचन अद्यतन: PS4 में नाइट्रोजन मिश्रित आक्साइड (एमओएन-3) ऑक्सीडाइजर भरने का कार्य 15:00 IST तक पूरा हुआ
दिसम्बर 14, 2015 पीएसएलवी-C29 / टेलीओस -1 प्रमोचन अद्यतन: मोनो मिथाइल हाइड्राजिन(यूके) चौथे चरण (PS4) के प्रणोदक भरने का कार्य 10:45 IST तक पूरा कर लिया गया है। PS4 में नाइट्रोजन मिश्रित आक्साइड (एमओएन-3) ऑक्सीडाइजर भरने का कार्य प्रगति पर है
दिसम्बर 14, 2015 पीएसएलवी-C29 / टेलीओस -1 मिशन अद्यतन: उलटी गिनती आज सोमवार, 14 दिसंबर, 2015 को 07:00 IST बजे शुरू
दिसम्बर 13, 2015 पीएसएलवी-सी 29/टेलीओएस-1 अद्यतन: मिशन तैयारी समीक्षा (एमआरआर) समिति और प्रमोचन प्राधिकार बोर्ड (एलएबी) ने उलटी गीनती और
दिसम्बर 10, 2015 सिंगापुर के छह उपग्रहों को ले जाने वाले पीएसएलवी-C29 का प्रमोचन दिसं, 16, 2015 को 6:00बजे निर्धारित
दिसम्बर 09, 2015 पीएसएलवी-C29 / टेलीओस मिशन के लिए मीडिया पंजीकरण
दिसम्बर 09, 2015 पीएसएलवी-C29 / टेलीओस मिशन के लिए मीडिया पंजीकरण
नवंबर 26, 2015 निदेशक, भौतिक अनुसंधान प्रयोगशाला, अहमदाबाद के पद के लिए भर्ती नियमों का निर्धारण - के संबंध में
नवंबर 25, 2015 जीसैट-15 अध्यतन: जीसैट-15 के लिए केंद्र अधिग्रहण कौशल पूरे किए गए एवं नवंबर की रात के दौरान उपग्रह को 93.5 पूर्व में सफलतापूर्वक सहस्थापित किया गया
नवंबर 20, 2015 कक्षा (आईओटी) में पेलोड (कू और गगन) का परीक्षण जारी है
नवंबर 16, 2015 भारत के रिसैट -1 उच्च विभेदन स्पॉटलाइट (एचआरएस)
नवंबर 13, 2015 मंगल कक्षित्र मिशन (एम.ओ.एम.) मंगल एटलस का विमोचन
नवंबर 12, 2015 जीसैट -15 का प्रथम कक्षा उत्थान सफलतापूर्वक पूरा कर लिया गया
नवंबर 10, 2015 डीडी नेशनल पर जीसैट -15 प्रमोचन का सीधा प्रसारण नवम्बर 11, 2015 को 02:30बजे IST, उपलब्ध
अक्टूबर 27, 2015 एस्ट्रोसैट मृदु एक्स-रे टेलीस्कोप (SXT) ब्लाझार PKS2155-304 के दृश्य
अक्टूबर 26, 2015 एस्ट्रोसैट-LAXPC पेलोड का स्विचन
अक्टूबर 19, 2015 स्कैनिंग स्काई मॉनिटर (एसएसएम) ऑनबोर्ड एस्ट्रोसैट पेलोड को प्रचालनीय किया गया - 12 अक्टूबर, 2015
अक्टूबर 18, 2015 19/10/2015 को एस्ट्रोकसैट के संबंध में अद्यतन सूचना
अक्टूबर 16, 2015 एस्ट्रोसेट मिशन - स्कैनिंग स्काई मॉनिटर (एसएसएम) पेलोड को चालू किया गया
अक्टूबर 12, 2015 एस्ट्रोसैट- महामहिम राष्ट्रपति जी का संदेश
अक्टूबर 09, 2015 यूएएस बैंगलोर के स्थापना दिवस और पुरस्कार समारोह पर अध्यक्ष इसरो द्वारा प्रस्तुति
अक्टूबर 08, 2015 एस्ट्रोसैट-अंतरिक्ष यान का स्वास्थ्य सामान्य है
अक्टूबर 08, 2015 एस्ट्रोसैट-अंतरिक्ष यान स्टार सेंसर निष्पादन ने अलग अभिविन्यास के लिए पारगमन एलबिडो का मूल्यांकन किया है।
अक्टूबर 08, 2015 एस्ट्रोसैट-के लिए SXT और LAXPC नियमित प्रचालन किए गए
अक्टूबर 08, 2015 एस्ट्रोसैट-CZTI को पूरे दिन के लिए सिग्नस-X1 की ओर रखा गया और आंकड़े एकत्र किया गया
अक्टूबर 07, 2015 एस्ट्रोसैट-कैडमियम जस्ता टेलूराइड इमेजर (CZTI) कार्य कर रहा है
अक्टूबर 04, 2015 एस्ट्रोसैट-पेलोड ठीक से काम कर रहे हैं
अक्टूबर 04, 2015 एस्ट्रोसैट- मृदु एक्स-रे टेलीस्कोप (SXT) निकासन प्रचालन नियमित रूप से किए जा रहे हैं।
अक्टूबर 03, 2015 एस्ट्रोसैट-कैडमियम जस्ता टेलूराइड इमेजर (CZTI) का परीक्षण किया और चालू स्थिति में रखा गया
अक्टूबर 02, 2015 एस्ट्रोसैट-CZTI प्रसंस्करण इलेक्ट्रॉनिक्स शुरू किए गए
अक्टूबर 01, 2015 एस्ट्रोसैट-आवेशित कण मानीटर (सीपीएम) प्रचालनीय
अक्टूबर 01, 2015 एस्ट्रोसैट-LAXPC अग्रांत इलेक्ट्रॉनिक्स शुरू किया गया और सामान्य है।
अक्टूबर 01, 2015 एस्ट्रोसैट- आवेशित कण मॉनिटर (सीपीएम) कार्य कर रहा है
सितंबर 30, 2015 आवेशित कण मॉनिटर (सीपीएम) चालू किया और प्रदर्शन सामान्य है।
सितंबर 30, 2015 एसएसएम मंच पर मोड परीक्षण किए गए।
सितंबर 30, 2015 मृदु एक्स-रे टेलीस्कोप (SXT) निकासन प्रचालन किया गया
सितंबर 30, 2015 स्कैनिंग स्काई मॉनिटर (एसएसएम) इलेक्ट्रॉनिक्स चालू किया गया
सितंबर 30, 2015 बृहत क्षेत्र एक्स-रे आनुपातिक काउंटर - प्रसंस्करण इलेक्ट्रॉनिक्स (LAXPC पीई) चालू किया गया
सितंबर 29, 2015 योजना के अनुसार एस / सी प्रचालन और सुचारू रहे
सितंबर 28, 2015 पीएसएलवी-C30 / एस्ट्रोसैट प्रमोचन अद्यतन: मिशन निदेशक ने प्रक्षेपण के लिए वाहन निदेशक अधिकृत किया। स्वत: प्रमोचन अनुक्रम (ए एल एस) कार्यक्रम 09:48 आईएसटी पर शुरू कर दिया
सितंबर 28, 2015 पीएसएलवी-C30 से एस्ट्रोसैट का कक्षा में सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया
सितंबर 28, 2015 पीएसएलवी-C30 / एस्ट्रोसैट प्रमोचन अद्यतन: लिफ्टऑफ सामान्य
सितंबर 28, 2015 स्टार सेंसर अनुवर्तन और सही अभिवृत्ति प्रदान
सितंबर 28, 2015 अंतरिक्ष यान त्री अक्ष स्थिर
सितंबर 28, 2015 सौर पैनल और स्कैनिंग स्काई मॉनिटर (एसएसएम) का प्रस्तरण
सितंबर 24, 2015 कक्षा में मंगल कक्षित्र मिशन के एक वर्ष पूरा होने पर; मंगल एटलस का विमोचन
सितंबर 06, 2015 सितंबर 06, 2015 जीसैट -6 अद्यतन: जीसैट 6 सफलतापूर्वक अपनी कक्षा स्लॉट में स्थापित
सितंबर 03, 2015 जीएसएलवी की गाथा
सितंबर 01, 2015 जीसैट -6 की कक्षा तीसरी कक्षा उत्थान के बाद
अगस्त 30, 2015 जीसैट -6 अद्यतन: जीसैट -6 की तीसरी कक्षा का उत्थान सफलतापूर्वक पूरा कर लिया गया
अगस्त 30, 2015 जीसैट -6 अद्यतन: खुलनीय एंटीना (UFA) का कार्य प्रगति पर है
अगस्त 30, 2015 जीसैट -6 अद्यतन: खुलनीय एंटीना (UFA) का सफलतापूर्वक प्रस्तरण
अगस्त 29, 2015 जीसैट -6 अद्यतन: जीसैट -6 का दूसरा कक्षा उत्थान सफलतापूर्वक पूरा कर लिया गया
अगस्त 14, 2015 रीसैट -1 हाइब्रिड ध्रुवनमापन से सीनाबंग पर्वत, इंडोनेशिया का चित्र
अगस्त 13, 2015 जीएसएलवी डी 6 / जीसैट 6 के प्रमोचन को कवर करने के लिए चेन्नई आधारित मीडिया के लोगों का ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया
जुलाई 25, 2015 मोम के ब्लैकआउट से बाहर आने के बाद एमसीसी द्वारा लिया गया पहला प्रतिबिंब
जुलाई 10, 2015 पीएसएलवी-C28 / DMC3 अद्यतन: प्रणोदक भरने का कार्य पूरा कर रहे हैं। उलटी गिनती का प्रचालन सामान्य रूप से प्रगति पर है।
जुलाई 10, 2015 पीएसएलवी-C28 / DMC3 अद्यतन: दूसरे चरण (PS2) में यूएच-25 प्रणोदक भरने का कार्य 09:40बजे (आईएसटी) पर पूरा हो गया
जुलाई 10, 2015 पीएसएलवी-C28 / DMC3 अद्यतन: दूसरे चरण (PS2) में यूएच-25 प्रणोदक भरने का कार्य प्रगति पर है।
जुलाई 10, 2015 पीएसएलवी-C28 / DMC3 अद्यतन: मोबाइल सेवा टॉवर (एमएसटी) पार्किंग स्थल पर वापसी और दूसरे चरण (PS2) में N2O4 प्रणोदक भरने का कार्य 07:00(आईएसटी) तक पूरा कर रहे हैं
जुलाई 09, 2015 पीएसएलवी-C28 / DMC3 अद्यतन: उलटी गिनती का कार्य सामान्य रूप से प्रगति पर है। मोबाइल सेवा टॉवर (एमएसटी) की वापसी और दूसरे चरण (PS2) में प्रणोदक भरने का कार्य चल रहा है।
जुलाई 08, 2015 पीएसएलवी-C28 / DMC3 अद्यतन: चौथे चरण में नाइट्रोजन मिश्रित आक्साइड (एमओएन-3)ऑक्सीडाइजर भरने का कार्य के 17:45(आईएसटी) बजे पर शुरू किया गया
जुलाई 08, 2015 पीएसएलवी-C28 / DMC3 अद्यतन: चौथे चरण (PS4) में (एमओएन-3)ऑक्सीडाइजर भरने का कार्य पूरा हो चुका है
जुलाई 08, 2015 पीएसएलवी-C28 / DMC3 अद्यतन: पीएसएलवी-C28 के चौथे चरण (PS4) में मोनो मिथाइल हाइड्राजिन(यूके) प्रणोदक भरने का कार्य 10:10(आईएसटी) बजे पर शुरू किया गया
जुलाई 08, 2015 पीएसएलवी-C28 / DMC3 अद्यतन: MMH प्रणोदक भरने का प्रचालन पूरा किया गया। नाइट्रोजन मिश्रित आक्साइड (एमओएन-3)ऑक्सीडाइजर भरने का कार्य प्रगति पर है।
जुलाई 08, 2015 पीएसएलवी-C28 / DMC3 अद्यतन: 62 और आधे घंटे के लिए उलटी गिनती पीएसएलवी-C28 / DMC3 मिशन की गतिविधि, आज बुधवार, जुलाई 08, 2015 पर 07: 28बजे (आईएसटी) पर शुरू की गई है । प्रक्षेपण 10 जुलाई, 2015 को 21:58(आईएसटी) पर निर्धारित है
जुलाई 07, 2015 पीएसएलवी-C28 / DMC3 अद्यतन: मिशन तैयारी समीक्षा (एमआरआर) समिति और प्रमोचन प्राधिकार बोर्ड (एलएबी) ने कल बुधवार, जुलाई 08 2015 को IST 07:28बजे पर पीएसएलवी-C28 / DMC3 मिशन के 62 और आधे घंटे की उलटी गिनती के शुरुआत के लिए मंजूरी दे दी है
जुलाई 06, 2015 मंगल कलर कैमरा (एमसीसी) द्वारा लिया गया हायजेन्स क्रेटर के नैरुत्य में स्थित प्रभावी क्रेटर
जून 09, 2015 मंगल पर 'सौर संयोजन' के तहत मंगल कक्षित्र यान
जून 01, 2015 तीन प्रमुख इसरो केंद्रों के लिए नए निदेशक
मई 01, 2015 इसरो के राष्ट्रीय सुदूर संवेदन केंद्र और भूमि संसाधन विभाग के बीच समझौता ज्ञापन हस्ताक्षरित
मार्च 31, 2015 आईआरएनएसएस -1 डी का प्रमोचनोपरांत अद्यतन: आईआरएनएसएस -1 डी के तृतीय कक्षा उत्थान का प्रचालन सफलतापूर्वक पूरा किया गया
मार्च 30, 2015 आईआरएनएसएस -1 डी का प्रमोचनोपरांत अद्यतन: आईआरएनएसएस -1 डी के प्रथम कक्षा उत्थान का प्रचालन सफलतापूर्वक पूरा किया गया
मार्च 27, 2015 पीएसएलवी-C27 / आईआरएनएसएस -1 डी उलटी गिनती का काज सामान्य रूप से प्रगति पर है। पीएसएलवी-C27 के (PS2) के दूसरे चरण में प्रणोदक भरने का कार्य आज की आधी रात से शुरू किया जाएगा।
मार्च 26, 2015 पीएसएलवी-C27/आईआरएनएसएस 1डी मिशन अध्यतन:पीएसएलवी-C27 के चौथे चरण (PS4) में मोनो मिथाइल हाइड्राजिन (यूके) प्रणोदक भरने का कार्य पूरा हो चुका है। नाइट्रोजन मिश्रित आक्साइड (एमओएन-3)ऑक्सीडाइजर भरने का कार्य प्रगति पर है।
मार्च 26, 2015 पीएसएलवी-C27 / आईआरएनएसएस -1 डी मिशन अद्यतन: पीएसएलवी-C27 के चौथे चरण (PS4) में मोनो मिथाइल हाइड्राजिन (यूके) प्रणोदक भरने का कार्य 9:40 बजे (आईएसटी) पर शुरू किया गया
मार्च 26, 2015 पीएसएलवी-C27 / आईआरएनएसएस -1 डी मिशन के 59 और आधे घंटे उलटी गिनती को गुरुवार को, 26 मार्च, 2015 को 05:49 आईएसटी पर शुरू कर दिया गया
मार्च 25, 2015 मिशन तैयारी समीक्षा समिति और प्रमोचन प्राधिकार बोर्ड ने कल, गुरुवार, 26 मार्च, 2015 को 05:49 IST पर पीएसएलवी-C27 / आईआरएनएसएस -1 डी मिशन के 59 और आधे घंटे की उलटी गिनती के शुरुआत को मंजूरी दे दी
मार्च 23, 2015 पीएसएलवी-C27 / आईआरएनएसएस -1 डी लॉन्च को दिखाने के लिए मीडिया पंजीकरण
मार्च 23, 2015 28 मार्च 2015 को आईआरएनएसएस -1 डी का पीएसएलवी-C27 द्वारा प्रमोचन
मार्च 04, 2015 आईआरएनएसएस -1 डी के साथ पीएसएलवी-सी 27 का प्रमोचन स्थगित किया गया
जनवरी 10, 2015 विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र ने श्रृंखला में कुंडलाकार सूर्य ग्रहण का अध्ययन करने के लिए परिज्ञापी रॉकेट प्रक्षेपण आयोजित किया
अक्टूबर 25, 2008 चंद्रयान -1 अंतरिक्षयान की कक्षा का और उत्थान किया गया
नवंबर 15, 2007 स्वदेशी क्रायोजेनिक चरण सफलतापूर्वक अर्ह