मंगल रंगीन कैमरा (एमसीसी) द्वारा लिया गया हेस्पीरिया प्लैनम क्षेत्र का हिस्सा

प्रतिबिंब हेस्पीरिया प्लैनम क्षेत्र का हिस्सा है, जो 31-03-2015 को मंगल रंगीन कैमरा (एमसीसी) द्वारा 1132 किलोमीटर की ऊंचाई से 58 मीटर के स्थानिक विभेदन में लिया गया था। झुर्रीदार लकीरें और छोटे व्यास के क्रेटर स्पष्ट रूप से इस प्रतिबिंब में दिखते हैं। संपीड़न संबंधी तनाव के कारण ग्रहों की सतह पर झुर्रीदार लकीरे बनती हैं। रिज का मतलब रैखिक/कड़ाही नुमा लम्बी बनी संरचना है ।